27/01/2018    सीलिंग के खिलाफ 2 -3 फरवरी को 48 घंटे का दिल्ली व्यापार बंद
केंद्र सरकार संसद के आगामी सत्र मेंसीलिंग से बचाने के लिए बिल लाये

नई दिल्ली ।गत 23 जनवरी को हुए दिल्ली व्यापार बंद के बादएक बार फिर दिल्ली के व्यापारियों ने सीलिंग केखिलाफ कमर कस ली है और आगामी 2 -3 फरवरीको दिल्ली के व्यापारी 48 घंटे का दिल्ली व्यापारबंद रखेंगे ! व्यापारियों की मांग है की दिल्ली केव्यापार और व्यापारियों को सीलिंग की मार से पूर्णरूप से बचाने के लिए केंद्र सरकार संसद के आगामीसत्र के शुरआत में ही बिल लाये ! उधर दूसरी ओरदेश भर के प्रमुख व्यापारी नेता भी 3 फरवरी कोदिल्ली के व्यापारियों के समर्थन में दिल्ली में व्यापारबंद में शामिल होंगे ! व्यापार बंद के दौरान दिल्ली मेंसभी होलसेल और रिटेल बाजार पूरी तौर पर बंद रहेंगे !

कॉन्फ़ेडरेशन ऑफ़ आल इंडिया ट्रेडर्स (कैटकेआवाहन पर दिल्ली व्यापार बंद की घोषणा की गयीहै ! यह निर्णय आज नई दिल्ली के कंस्टीटूशन क्लबमें हुई व्यापारियों की एक बैठक में लिया गया जिसमें दिल्ली की 500  प्रमुख मार्केटों के व्यापारी नेतामौजूद थे कैट के राष्ट्रीय महामंत्री श्री प्रवीन खंडेलवाल नेबताया की 48 घंटे के व्यापार बंद के दौरान दिल्लीकी विभिन्न मार्केटों में व्यापारी विरोध मार्च निकलेंगेऔर अपनी मार्केटों में धरने देंगे ! इस से पहलेव्यापारी प्रतिनिधिमंडल दिल्ली के सातों सांसदों एवंविधायकों का घेराव करते हुए अपना ज्ञापनसौंपेंगे इसके अलावा सभी राजनैतिक दलों के प्रमुख नेताओं को भी व्यापारी अपना ज्ञापन देंगे ।जिस तरह से बिना किसी अपील या दलील केदिल्ली में मॉनिटरिंग कमेटी द्वारा सीलिंग की जा रहीहै वो बेहद अमानवीय है ! बिना कोई कारण बतायेसीलिंग की जा रही है और दिल्ली नगर निगमकानून 1957 की मूल प्रावधानों को ताक पर रखा जा रहाहै ! मॉनिटरिंग कमेटी  किसी की बात सुनती है  ही कोई कागज देखती है ! एक तरह से दिल्ली मेंएक अतिरिक्त प्रशासनिक बॉडी की तरह मॉनिटरिंगकमेटी काम कर रही है जो देश के प्रजातान्त्रिकस्वरुप के लिए बेहद घातक है ! व्यापारियों कोउत्पीड़ित किया जा रहा है ! दिल्ली नगर निगम एककठपुतली के सामान काम कर रहा है ! 



Click here for more interviews
Copyright @ 2017.