20/11/2018    यदि भगवान श्रीराम के मंदिर के निर्माण कार्य शुरू नहीं हुआ, तो हिन्दू समाज नहीं मनाएगा दीपावली - गिरिराज सिंह
नई दिल्ली। सनातन हिंदू वाहिनी (पंजी) के तत्वाधान में प्राचीन सिद्धपीठ श्री कालका जी मंदिर के प्रांगण में वाहिनी का चतुर्थ स्थापना दिवस धूमधाम से मनाया गया।

वीर वीरांगना झांसी की रानी लक्ष्मी बाई के जन्मोत्सव के दिन उदय हुई वाहिनी के हजारों कार्यकर्ताओं ने एकत्रित होकर श्रीराम मंदिर के भव्य निर्माण, रोहिंग्या मुसलमानों को वापस खदेडने व जनसंख्या नियंत्रण के लिए कडे कानून की मांग की। वाहिनी के राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं कालकापीठ के पीठाधीश्वर महंत श्री सुरेंद्रनाथ अवधूतजी महाराज ने कार्यक्रम की अध्यक्षता की। मंच का संचालन राष्ट्रीय संयोजक पं विजय शर्मा ने किया। कार्यक्रम में मुख्य अतिथि केंद्रीय मंत्री श्री गिरिराज सिंह, महामंडलेश्वर महंत श्री नवल किशोर दासजी महाराज, महंत श्री मंगलनाथ जी, नई दिल्ली की सांसद सुश्री मीनाक्षी लेखी, विधायक कपिल मिश्रा, ईडीएमसी के उप महापौर किरण वैद्य, पूर्व मेयर ईडीएमसी श्रीमती सत्या शर्मा, नई दिल्ली जिला भाजपा अध्यक्ष अनिल शर्मा, युवा मोर्चा कोषाध्यक्ष पंकज जैन सहित ब्राम्हण समाज से पं विजय शर्मा, वैश्य समाज से धीरज अग्रवाल, जैन समाज से श्री सत्य भूषण जैन, लोधी राजपूत समाज से राजकुमार, जाटव समाज से जोगेंद्र नरवाल, वाल्मिकी समाज से जितेंद्र चंदेलिया, नाथ समाज से तेजपाल योगी, खटीक समाज से राजेश तोमर, सोनकर से राकेश सोनकर आदि समाज के नेता भी मंच पर विराजमान थे। इस अवसर पर केंद्रीय मंत्री श्री गिरिराज किशोर ने श्री रामलला के भव्य मंदिर निर्माण में हो रही देरी पर चिंता जताते हुए इस शीत सत्र में अध्यादेश लाने का विचार व्यक्त किया। श्री सिंह ने कहा कि कितनी बडी विडंबना है कि वर्षों से श्रीराम लला सर्दी, गर्मी, बरसात में तिरपाल की छत के साए में रह रहे है। ओर हम सब अपने घरों में आरामपूर्वक जीवन व्यतीत कर रहे है। करोडों हिंदुओं के आराध्य के साथ जब ऐसा हो रहा हो और सुप्रीम कोर्ट से आस हो और वो भी धूमिल हो जाए तो हिन्दू समुदाय का उग्र होना स्वाभाविक है। श्री सिंह ने कहा, कि अब हिन्दू समाज का धैर्य डगमगा रहा है, ऐसे में इस सत्र में श्रीराम जन्म भूमि मामले पर अध्यादेश लाकर केंद्र सरकार हिंदुओं का सम्मान करे वरना प्रत्येक हिंदू यह प्रण करे कि अगली दीपावली पर वो दीपोत्सव नहीं मनाएगा। महामंडलेश्वर महंत श्री नवल किशोर दास जी महाराज ने कहा कि हिंदू समाज ने देवी देवताओं के नाम पर अपने बच्चों का नाम रखना बंद कर दिया है। जिससे नैतिक संस्कारों का हनन हो रहा है। देश के करोडों हिन्दुओं को अपने परिवार के युवाओं को नैतिक ज्ञान देने के लिए समय निकालना होगा। राष्ट्रीय अध्यक्ष महंत श्री सुरेंद्रनाथ अवधूत जी महाराज ने कहा, कि रोहिंग्या मुसलमान देश की अंतरिक सुरक्षा के लिए खतरा बने है। ये आतंकी घुसपैठिए सभी मूलभूत सुविधाएं अर्जित कर देश के आम नागरिकों की जन सुविधाओ का लाभ ले रहे है। देश की जडों को खोखला करने वाले ऐसे घुसपैठिए को उनके हिमायती सहित देश निकाला दिया जाना चाहिए। साथ ही देश में विस्फोटक बन रही जनसंख्या नियंत्रण पर भी कडे कानून का प्रावधान होना चाहिए। इसके अतिरिक्त अन्य वक्ताओं ने श्रीराम जन्मभूमि मंदिर निर्माण आदि विषयों पर मार्गदर्शन किया। वाहिनी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष ओपी शर्मा (एडवोकेट), प्रभाष चंद्र निरंजन लाल, अभिमन्यु राजपूत (बिहार), विशाल शर्मा (हिमाचल प्रदेश), श्रीमती सुजाता शर्मा (राजस्थान), श्रीमती डौली चौहान (हरियाणा), संगठन मंत्री राजकुमार चौहान, प्रदेश अध्यक्ष पुष्पेंद्र मिश्रा, महेश मखीजा, विनोद जैन, सोमेश भारद्वाज (नोएडा) आदि का शाल व स्मृति चिन्ह देकर अभिनंदन किया गया।



Click here for more interviews
Copyright @ 2017.