12/08/2020    कालका जी मंदिर में मनाई गई जन्माष्टमी
नई दिल्ली : हर साल की तरह इस बार भी श्रीकृष्ण जन्माष्टमी कालका पीठ में मनाई गई। इस बार भी देश में दो दिन जन्माष्टमी मनाई जा रही है लेकिन कालका जी मंदिर में जन्माष्टमी 11 अगस्त को मनाई गई।

 हालांकि, कोरोना वायरस के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए कालका जी में सख्त नियमों के साथ जन्माष्टमी मनाई गई। कालका पीठ के महंत सुरेंद्रनाथ अवधूत ने कहा कि मंदिर में 11 अगस्त को जन्माष्टमी मनाई गई। इस दौरान भक्तों ने हाथों को सेनिटाइज करने के बाद छह फीट की दूरी के साथ बाल गोपाल को झूला झुलाया। इसके साथ ही भक्त मंदिर में सेनिटाइज टनल में होकर आए। हर साल मंदिर में बड़ा महोत्सव होता था लेकिन कोरोना के कारण हमने सभी स्वास्थ्य नियमों को ध्यान में रखते हुए सादगी के साथ श्रीकृष्ण का जन्मोत्सव मनाया।
उन्होंने आगे कहा कि कृष्ण जन्माष्टमी के दिन ही काली जयंती भी होती है। इस बात को ध्यान में रखते हुए कालका पीठ के अंदर भगवती काली का विधिवत पूजन किया गया। 11 अगस्त को मध्य रात्रि के समय हवन किया गया और राष्ट्र के कल्याण की कामना की गई। हमारा राष्ट्र शीर्घ ही इस वैश्विक महामारी से मुक्त हो और देशवासियों का कल्याण हों।

Click here for more interviews
Copyright @ 2017.