15/04/2015  प्राक्रतिक आपदा के चलते किसानो को राहत 1 वर्ष के किसान क्रडिट कार्ड की अबधि बढ़ी
   आज दिनांक 15 अप्रैल, 2015 को जनपद की जिलाधिकारी श्रीमती बी0 चन्द्रकला की अध्यक्षता में कलैक्ट्रेट सभागार में बैंकर्स के साथ एक विषेश जिला सलाहकार समिति की बैठक की गयी, जिसमें जिला अग्रणी प्रबंधक श्री कमल भसीन, डी0डी0एम0, नाबार्ड श्री एम0एस0राना, जिला विकास अधिकारी, जिला कृशि अधिकारी एवं सभी बैंकों के प्रतिनिधियों ने प्रतिभाग किया।

उक्त बैठक का उद्देष्य बे-मौसम वारिष एवं ओलावृश्टि से प्रभावित किसानों को आर0बी0आई0 के दिषा-निर्देषों के क्रम में जनपद के बैंकों द्वारा राहत प्रदान करने के लिए समुचित कार्यवाही क्रियान्वित कराना था।  बैठक में जिला अग्रणी प्रबंधक द्वारा सभी बैंकर्स को अवगत कराया गया कि रिजर्व बैंक के निर्देषानुसार कृशि ऋण खातों की रिष्ड्यूलिंग एवं रि-स्ट्रक्चरिंग किया जाना है। इसके अंतर्गत किसान के्रडिट कार्ड की समयावधि एक वर्श के लिए बढा दी जायेगी और उसका खाता नियमित माना जायेगा और टर्म लोन खातों में भी लोन की देनदारी एक वर्श के लिए बढा दी जायेगी, जिससे किसानों को इस आपदा के दौरान बैंको का लोन चुकाने में किसी प्रकार की असुविधा न हो। साथ ही, आपदा प्रभावित किसानों के विरूद्ध ऋण वसूली के लिए कोई उत्पीडनात्मक कार्यवाही भी नहीं की जायेगी।

       बैठक में यह भी अवगत कराया गया कि आपदा प्रभावित किसानों को 10 हजार रूपये तक की धनराषि का उपभोक्ता ऋण भी प्रदान किया जा सकता है।

बैठक में जिलाधिकारी श्रीमती बी0चन्द्रकला ने सभी बैंकर्स को निर्देषित किया कि वह जनपद के आपदा प्रभावित किसानों को रिजर्व बैंक आफ इण्डिया के दिषा-निर्देषों के क्रम में राहत प्रदान करना सुनिष्चित करें। इस संबंध में किसी प्रकार की कोताही न बरतें और किसानों को यथासंभव राहत प्रदान की जाए।

Copyright @ 2017.