31/05/2015  जिला शिमला बाल कल्याण समिति ने स्थानीय प्रशासन को किया आगाह
जिला शिमला बाल कल्याण समिति जो की जुवेनाइल जस्टिस एक्ट 2000 के तहत गठित की गयी है, ने गत शनिवार को अपनी बैठक में प्रस्ताव पारित कर, कमला नेहरू अस्पताल में पानी की किल्लत से नवजात शिशुओं में संक्रमण अथवा पीलिया जैसे भयानक रोगों के फ़ैलने की आशंका पर कडा संज्ञान लिया व स्थानीय प्रशासन व नगर निगम को आगाह किया है की पानी की अव्यवस्था को तुरंत दुरुस्त किया जाये| समिति ने अस्पताल प्रशासन से भी कहा की नवजात बच्चों के भविष्य को मद्देनज़र रखते हुए अस्पताल में पानी की गुणवत्ता व भण्डारण क्षमता को बढाए जाने का उचित प्रबंध करें |
समिति के अध्यक्ष एo डब्ल्यूo खान व सदस्यों सुभाष वर्मा, रूनम कौशिक, सपना बंटा व मंजू सागर ने स्थानीय प्रशासन को यह भी सचेत किया की ग्रीष्मकालीन सीज़न के दौरान पर्यटकों की आवाजाही बढ़ जाती है और आये दिन माल रोड जैसी जगहों पर भी प्रदेश में बाहर से आये बच्चों से भीख मंगवाई जा रही है, जो की कानूनी तौर पर गलत है और प्रशासन को ऐसा करने वालों के खिलाफ तुरंत कार्यवाई करनी चाहिए ताकि बच्चों से कोई अन्याय न हो |
Copyright @ 2017.