16/07/2015  व्यापम घोटाले की जांच का कार्यालय बना 10 नंबर बंग्ला
भोपाल । व्यापमं घोटाले की जांच करने के लिए सीबीआई का अस्थाई दफ्तर प्रोफेसर कालोनी में रहेगा। राज्य सरकार ने उन्हें यहां बंगला बी-10 आवंटित किया है। फिलहाल इस बंगले में लोकल इंटेलीजेंस का जोनल आफिस है। जांच से जुड़े सीबीआई अफसरों के रुकने के लिए कोलार रोड स्थित जलसंसाधन विभाग के रेस्ट हाउस में इंतजाम किया गया है। सीबीआई ने सरकार को पत्र लिखकर संसाधन मांगे थे।
गृह विभाग के सूत्रों ने बताया कि सीबीआई ने पत्र में कहा कि जांच के लिए 40 अफसरों का दल भोपाल आया है। जैसे-जैसे जांच आगे बढ़ेगी, अफसरों की संख्या बढ़ेगी। इस लिहाज से करीब 100 अफसरों के ठहरने की व्यवस्था की जाए।
मंगलवार को गृह विभाग में पत्र पहुंचा। फौरन मंत्रालय के तीन अफसर बंगला आवंटित करने के लिए संपदा संचालनालय में फाइलें खंगालने लगे। इन अफसरों ने विंध्याचल और सतपुड़ा भवन में खाली कमरों की भी छानबीन की, लेकिन सीबीआई अफसरों ने स्वतंत्र बंगला देने का अनुरोध किया। बताया जाता है कि शाम होते-होते सीबीआई ने प्रोफेसर कालोनी में यह बी-टाइप बंगला पंसद कर लिया। तुरंत गृह विभाग ने अस्थाई रूप से आंवटन की प्रक्रिया पूरी कर दी।
बताया जाता है कि इस बंगले में संचालित हो रहे लोकल इंटेलीजेंस आफिस को अन्य स्थान पर शिफ्ट किया जाएगा। अभी यह तय नहीं है कि सीबीआई के इस आफिस में व्यापमं से जुड़े मामलों में आम पीड़ित भी अपनी शिकायतें लेकर आ पाएंगे या सिर्फ दस्तावेजों में दर्ज आरोपियों या गवाहों की ही सुनवाई होगी। 24 जुलाई तक सीबीआई आफिस का एक्शन प्लान तय करेगी।
Copyright @ 2017.