26/07/2015  जोन स्तर का निरंकारी बाल सन्त समागम आयोजित
सोलनः सन्त निरंकारी मिशन द्वारा सोलन स्थित सत्संग भवन में आज निरंकारी बाल सन्त समागम का आयोजन किया गया, जिसमें शिमला जोन के विभिन्न क्षेत्रों जैसे कि शिमला, सुन्नी, सुबाथू, सोलन, कसौली, धर्मपुर, नालागढ़, बरोटीवाला, बद्दी, देलगी, कुनिहार, परवाणू व रामपुर आदि ब्रांचों के प्रतिभागियों ने मिशन का पावन सन्देश निरंकारी राजमाता जी की जीवनी पर आधारित पुस्तक कुलवन्तञ पर आधारित प्रश्नोत्तरी, अवतार वाणी शब्द गायन प्रतियोगिता, हिन्दी व अंग्रेज़ी समूहगान तथा स्पीच, कवि दरबार,, गीत, एवं नाटक आदि प्रस्तुतियों द्वारा प्रस्तुत किया। इस सन्त समागम का उद्देश्य बच्चों में मिशन के सन्देश को मानवता के कल्याण हेतु प्रसारित व प्रचारित करने के प्रति प्रतिस्पर्धात्मक भावना को जागृत करना था। 
समागम की अध्यक्षता केन्द्रीय प्रचार विभाग की ओर से विशेष तौर पर भेजी गई सुन्दरनगर की प्रचारक बहन वीना जसवाल जी ने की। अपने सम्बोधन में उन्होनें कहा कि निरंकारी बाबा हरदेव सिंह जी महाराज स्वयं कहते हैं कि मिशन का बच्चा-बच्चा प्रचारक है, आज वास्तविकता में हम इस बात को अपनी आंखों के समक्ष देख रहे हैं। जिस प्रकार बच्चों ने गुरमत के हरएक पहलू को छूआ है, वह इस बात का संकेत करता है कि भविष्य में ये बच्चे मिशन के प्रचार-प्रसार में सक्रिय भूमिका निभाएंगे। निरंकारी बाबा जी चाहते हैं कि मिशन का बच्चा-बच्चा जहां से भी गुज़रे हर कोई उनका सत्कार करे। आज संसार में नैतिक मूल्यों का अभाव देखने को मिलता है। मिशन के बच्चे निरंतर संगत से जुड़े होने के कारण यहां नैतिकता सहज भाव में सीख जाते हैं। वास्तव में हम सभी गुरूदर के बच्चे हैं, इसलिए हम सभी ने मिशन की पूर्ण जानकारी रखनी है, इसके लिए मिशन के साहित्य को पढ़ना अनिवार्य है, ताकि हम प्रत्येक प्रभु प्रेमी तक मिशन का सन्देश सद्गुरू के आशयानुसार पहुंचाने में पूर्ण रूप सेे सक्षम हो सकें। इसी उद्देश्य से इन समागमों का आयोजन भी किया जाता है। 
इस अवसर पर विवेक कालिया जी सोलन, आशीष नन्दा शिमला, नरेन्द्र कश्यप तारादेवी तथा शोभा सिंह बरोटीवाला ने निर्णायक मण्डल की भूमिका निभाते हुए प्रथम, द्वितीय व तृतीय स्थान प्राप्त करने वाले प्रतिभागियों का आकलन किया व कार्यक्रम अन्त में मुख्य अतिथि द्वारा विजेताओं को पुरस्कार वितरित किए गए। 
स्थानीय सेवादल संचालक धर्मदास की देख-रेख में सेवादल के सदस्यों ने उपरोक्त समागम की समस्त व्यवस्था एवं उपस्थित साध संगत के लिए लंगर का आयोजन स्थानीय ब्रांच (सोलन) के संयोजक राम लाल जी ने जोनल इन्चार्ज की ओर से मुख्य अतिथि का स्वागत किया व समस्त प्रतिभागियों का धन्यवाद किया। बहन आस्था नन्दा जी व डा0 मोनिका जी ने मंच संचालन की सेवा बहुत ही प्रभावशाली तरीके से निभाई।
Copyright @ 2017.