02/08/2015  फर्जी जाति प्रमाण पत्र से नौकरी करने का मामला

एस.डी.एम. न्यायालय ने दिया आपराधिक प्रकरण दर्ज करने का आदेश

कटंगी। कटंगी एस.डी.एम. जी.सी. डेहरिया ने फर्जी जाति प्रमाण पत्र के आधार पर १३ साल से शिक्षक की नौकरी कर रहे ग्राम आंजबिहरी के निवासी रामेश्वर पुष्पता़ेडे विरूद्ध थाने में आपराधिक प्रकरण दर्ज करने एवं उसे सेवा से पृथक करने के आदेश दिये है।

ग्राम आंजनबिहरी के निवासी रामेश्वर पिता तानाजी पुष्पता़ेडे अन्य पिछड़ा वर्ग में शामिल कोहरी जाति के है। लेकिन उसके द्वारा अनुसूचित जाति में शामिल कोरी जाति का फर्जी प्रमाण पत्र तैयार कर उसके आधार पर शिक्षक की नौकरी हासिल कर ली गई है। इसके विरूद्ध कटंगी एस.डी.एम. न्यायालय में प्रकरण दर्ज कराया गया था। प्रकरण की सुनवाई में पाया गया कि रामेश्वर पुष्पता़ेडे पिछले १३ साल से फर्जी जाति प्रमाण पत्र के आधार पर संविदा शिक्षक की नौकरी कर रहा है। इतना ही नहीं फर्जी जाति प्रमाण पत्र के आधार पर उसकी सहायक अध्यापक के पद पर पदोन्नती हो गई है। वतर्मान में वह रामजीटोला शाला में पदस्थ है।

एस.डी.एम. न्यायालय ने फर्जी जाति प्रमाण पत्र तैयार कर उसके आधार पर पात्रता रखने वाले व्यक्ति का हक मारने वाले रामेश्वर पुष्पता़ेडे के विरूद्ध थाने में धोखाधड़ी के मामले में आपराधिक प्रकरण दर्ज करने एवं उसे सेवा से पृथक करने के आदेश दिये है। 

Copyright @ 2017.