03/08/2015  रुला रही है प्याज

सत्ता बदलने की ताकत रखने वाली प्याज आज फिर से उछाल पर है।, आपूर्ति के कारण इस वर्ष फिर से प्याज के दाम आसमान पर चढ़ने लगे इस साप्ताहिक बाजार में प्याज का रेट 40 और 50 रू. दर्ज किया गया आने वाले समय में इसमें और तेजी आने की संभावना है। जिस कारण माना जा रहा है। कि गरीब की रसोई से प्याज पुरी तरह से गायब हो सकता है।

बता दें कि मंहगाई से लोग पहले ही परेशान है। और अब प्याज के बढ़ते दामों ने लोगों को और हलाकान कर दिया है। प्याज के बढ़े दामों को व्यापक असर गरीबों के अलावा मध्यम वर्ग पर भी पड़ेगा. ज्ञात हो कि क्षेत्र में प्याज की पैदावार बिल्कुल भी नहीं होती मार्केट में बिकने वाला प्याज अन्य राज्यों और जिलों से कटंगी पहूचता है।

उल्लेखनीय है। कि प्याज के बढ़े हुए दामों से गृहणियां भी परेशान हो गई है। वे प्याज के बढ़ते हुए दामों के लिए सरकार को दोषी ठहराती है। उनका मानना है। कि कुछ व्यापारी प्याज को जमा करके काला बाजारी करते है। जिस कारण प्रतिवर्ष प्याज के दामों में उछाल दर्ज की जाती है। गृहणियों ने ऐसे कालाबाजारी करने वाले लोगों के खिलाफ भी कार्रवाई की मांग की है।

प्याज के दामों ने लोगों को अभी से रूलाना शुरू कर दिया है। इसके अलावा अन्य सब्जियों के दामों में भी काफी उछाल आई है। कुछ दिनों पहले तक जो सब्जियां हाथठेलों में बिका करती थी वे बड़े हुई दामों के कारण बाजार जाकर खरीदनी पड़ रही है।

Copyright @ 2017.