12/04/2016  आर्यभटट कालेज चाचियावास के प्राचार्य का घेराव कर टायर जलाकर किया उग्र प्रदर्शन
अजमेर(कलसी), एन.एस.यू.आर्इ. जिलाध्यक्ष दिव्येन्द्र सिंह जौदान व प्रदेश सचिव ईश्वर राजोरिया के संयुक्त नेतृत्व में चाचियावास सिथत आर्यभटट इंजीनियरिंग कालेज के प्राचार्य संजय कुमार माथुर का विभिन्न मांगों को रखते हुए ज्ञापन सौंप कर छात्रहितों की मांगे रखी।
जिलाध्यक्ष दिव्येन्द्र सिंह जौदान ने बताया कि आज प्रात: 10:00 बजे कर्इ छात्रो ने फोन पर सूचित कर बताया कि छात्रों को बिना कारण परीक्षा में बैठने से रोक दिया गया है जिसके कारण छात्रों में उग्र रोश व्याप्त हो गया। कालेज प्रशासन के द्वारा आये दिन यू.जी.सी. की गार्इड लार्इन के अलावा अपने नये नियमों को लागू करने की मनमानी की जा रही है जो कि गलत है। साथ ही आर.टी.यू. के शिक्षा कलेण्डर के अनुसार भी छात्र-छात्राओं को तीज-त्यौहारो की सरकारी छुटियां भी नहीं दी जा रही है जिससे छात्रो का मानसिक तनाव कम नहीं हो पा रहा है। छात्रो ने बताया कि कालेज में पेयजल की भी समस्या है, यहां पर छात्रो के पीने के लिए वाटर फिल्टर भी नहीं है और महिनों तक पानी की टंकी की सफार्इ भी नहीं होती है। इसी के चलते सैकड़ो छात्र-छात्राओं के साथ प्राचार्य का घेराव कर मैन गेट के बार टायर जलाकर विरोध प्रदर्शन किया गया।
प्रदेष सचिव र्इष्वर राजोरिया ने बताया कि छात्रों के द्वारा इम्प्रवमेन्ट फीस के रूप में 250 रू. से लेकर 300 रू. तक वसूले जाते है जबकि नियमों के आधार पर करीब 80 रू. शुल्क लिया जाना चाहिये, छात्रो के द्वारा बस सुविधा के लिए शुल्क देने के बाद भी यदि कोर्इ छात्र बस आर्इडी कार्ड नहीं ला पाता है तो उसे बस से उतार दिया जाता है, कालांश व परिक्षा के समय छात्रों को लघुंशंका के लिए भी जाने नहीं दिया जाता है जो कि छात्रों के लिए शारिरीक रूप से प्रताड़ना है। यही कारण है कि कालेज में अध्ययनरत छात्रों का मानसिक तनाव कम नही हो पा रहा है। छात्रों के द्वारा विरोध किये जाने पर प्रशासन व कुछ अध्यपकों द्वारा कम नम्बर व फेल करने की धमकी भी दी जाती है। साथ ही अध्यापक देवेन्द्र सिंह व एच.ओ.डी. हीना लाला के द्वारा छात्रों के साथ अभ्रद व्यवहार कर छात्रों को कक्षा से बाहर निकाल दिया जाता है। महाविधालय के कुछ अध्यापक यू.जी.सी. के नियमों के अनुसार शिक्षा देने के लिए यू.जी.सी. व आर.टी.यू. के मापदण्डो पर खरे नहीं उतरते है जो कि छात्रों के भविष्य के साथ खिलवाड़ है। ज्ञापन में बताया गया कि दिनांक 11 अप्रैल को जिन छात्रो की परीक्षा नहीं ली गर्इ है उनकी परिक्षा दो दिवस में करार्इ जाये साथ ही यदि निम्न मांगो पर तीन दिवस में कार्यवाही नहीं की गर्इ तो कालेज बंद कराकर उग्र प्रदर्शन किया जायेगा। प्रदेष सचिव र्इष्वर राजोरिया ने उक्त मामले की शिकायत उच्च शिक्षा मंत्री कालीचरण सर्राफ को भी की।
इस मौके पर जिलाध्यक्ष दिव्येन्द्र सिंह जौदान, प्रदेश सचिव र्इष्वर राजोरिया, दक्षिण विधानसभा अध्यक्ष धीरज सैनी, राजेश भडाणा, शान्तनु दिवेदी, गगन दीप छाबड़ा, टिक्कू बना, सलमान खान, दीपक धानका, राहुल चांवरिया, नीतेश आर्यन, चाहत तंवर, भागचन्द गुर्जर, अभिषेक सेमसन सहित काफी संख्या में एन.एस.यू.आर्इ. कार्यकर्ता व पदाधिकारी मौजूद थे।
Copyright @ 2017.