25/04/2016  घर में हाथगोले फेंकने से हड़कंप

पिसावां सीतापुर दस दिन पूर्व हुए विवाद को लेकर युवक द्वारा घर मे लगातार तीन हथगोले फेंके जाने से गावँ में हड़कम्प मच गया सूचना पाकर मौके पर पहुची पुलिस ने हथगोलों को पानी में डालकर नस्ट करते हुए आरोपी पर विस्फोटक अधिनियम के अंतर्गत केस दर्ज कर आरोपी की तलाश में जुट गयी मिली जानकारी के अनुसार करीब दस दिन पूर्व कस्बा निवासी राजेन्द्र पुत्र लडाइते शराब के नशे में अपनी अनुज बधू से गाली गलौज कर रहा था उसी समय पड़ोसी गुलाब सिंह पुत्र स्व, अजय विक्रम सिंह ने गाली गलौज करने से मना किया तो उसे भी गाली देने लगा जिसको लेकर दोनों लोगो में मारपीट होने लगी अगले दिन राजेन्द्र अपने बच्चों को ससुराल में छोड़ कर बदला लेने के लिए घूमने लगा बीती रात रात करीब एक बजे राजेंद्र ने लगातार तीन हथगोले गुलाब के घर  फेंक डिया घर में हथगोले गिरने से हड़कम्प मच गया सूचना पाकर मौके पर पहुची पुलिस ने हथगोलों को पानी में डाल नस्ट कर आरोपी राजेन्द्र पर विस्फोटक अधिनियम के तहत केस दर्ज कर आरोपी की तलाश में जुट गयी

कहीं हथगोलों का सप्लायर तो नही है राजेन्द्र
पिसावां कस्बा निवासी राजेन्द्र का हथगोलों से जुड़ा रहा है अतीत पुलिस की लापरवाही के चलते ठोस करवाई नही होने से हौसले बुलन्द हैं अगर यही रहा तो हो सकता है बड़ा हादसा ज्ञात हो दो वर्ष पूर्व तत्कालीन थानाध्यक्ष मनोज यादव के समय में हथगोला फटने से गाव के ही हबीब व राजेन्द्र घायल हो गए थे दोनों का इलाज जिला अस्पताल में करीब दो माह चला था सूत्रों के अनुसार राजेन्द्र थाने के मेस में काम करता था और समय पाकर हतगोलो की सप्लाई करता था पुलिस को भरोसे में लेकर इसका धंधा फलता फ़ूलता रहा लेकिन एक दिन गावँ के ही हबीब दरजी के घर पर हथगोलों को लेकर खींचतान होने लगी इतने में हथगोला छूट कर जमीन पर गिर गया आवाज सुनकर आसपास के लोग पहुच कर पुलिस को सूचना देकर दोनों घायलो को जिला अस्पताल में भर्ती कराया हादसा इतना बड़ा था की पड़ोस में पड़ी चारपाई के चीथड़े उड़ गए और वहां की मिटटी भी फट गयी थी लेकिन पुलिस ने विस्फोटक अधिनियम के तहत मामला ठंडे बस्ते में दाल दिया जिसके बाद राजेन्द्र फिर थाने पर आने जाने लगा अगर उस समय आरोपी पर ठोस कार्यवाई हो गयी होती तो आज यह नौबत नही आती

रिपोर्ट गौरव शर्मा

Copyright @ 2017.