10/06/2016  बड़वानी से कांग्रेस के जेल में बंद विधायक रमेश पटेल की जमानत अर्जी मंजूर कर ली.
साथ ही पटेल मध्य प्रदेश के राज्यसभा चुनाव के तहत 11 जून को अपना वोट डाल सकेंगे.पटेल के अधिवक्ता पी के मुकाती ने बताया कि पटेल की जमानत उच्च न्यायालय के न्यायाधीश जे के जैन ने मंजूर की. पटेल कथित तौर पर दुष्कर्म के एक मामले में पिछले चार माह से जेल में बंद हैं. जमानत मंजूर होने के साथ ही पटेल अब जेल से बाहर निकलकर 11 जून को मध्य प्रदेश राज्यसभा चुनाव के लिये अपना वोट डाल सकेंगे.सदन में कांग्रेस के कुल 57 विधायक हैं और कांग्रेस उम्मीदवार विवेक तन्खा को जीतने के लिये कुल 58 विधायकों के समर्थन की आवश्यकता है. भाजपा ने अधिकृत तौर पर ख्यात पत्रकार एम जे अकबर और पार्टी के रणनीतिकार अनिल माधव दवे को अपना उम्मीदवार बनाया है. विधानसभा में अपनी सदस्य क्षमता के आधार पर भाजपा अपने दोनों अधिकृत उम्मीदवारों को आसानी से विजयी बना लेगी.
कांग्रेस उम्मीदवार की राह मुश्किल करने के लिए प्रदेश भाजपा के महामंत्री विनोद गोटिया निर्दलीय उम्मीदवार के तौर पर चुनाव मैदान में हैं. गोटिया के लिये भी जीतना इतना आसान नहीं है क्योंकि उन्हें जीतने के लिए भाजपा के अतिरिक्त 49 विधायकों के अलावा नौ और विधायकों के समर्थन की आवश्यकता होगी. विधानसभा के एक अधिकारी ने बताया कि भाजपा के विधायक राजेन्द्र मेश्राम को उच्चतम न्यायालय के आदेश के अनुसार चुनाव में वोट देने से मना किया गया है.उन्होंने कहा कि मध्यप्रदेश के कुल 230 विधायकों में से एक विधायक मेश्राम को वोट देने की पात्रता नहीं है.बहुजन समाज पार्टी (बसपा) अपने चार विधायकों को कांग्रेस उम्मीदवार के पक्ष में वोट देने का व्हीप पहले ही जारी कर चुकी है.मध्य प्रदेश विधानसभा की कुल सदस्य संख्या 230 है. इनमें भाजपा के 166 विधायक, कांग्रेस के 57 बसपा के 4 और 3 निर्दलीय सदस्य हैं.
Copyright @ 2017.