12/06/2016  सिखों के इतिहास पर एप लॉन्च हुआ
सिंगापुर में सिखों के इतिहास की जानकारी देने वाला एक एप लॉन्च किया गया है. नेशनल हैरिटेज बोर्ड की आंशिक वित्तीय मदद से विकसित सिख हैरिटेज ट्रेल एप शनिवार को लॉन्च किया गया. यह एप 29 वर्षीय एक इंजीनियर इशविंदर सिंह ने विकसित किया है, जो एक एयरोस्पेस कंपनी में कार्यरत हैं.
यह एप एंड्रॉयड गूगल प्ले स्टोर और एप्पल एप स्टोर दोनों में उपलब्ध है. इस एसजीडी 20,000 ऐप में सिंगापुर में वर्ष 1850 में जेल में बंद किए गए सिखों की सुनवाई तक का इतिहास उपलब्ध है. उन दिनों सिंगापुर ब्रिटिश साम्राज्य का एक उपनिवेश था.
पंजाब में तब ब्रिटिश राज के खिलाफ दिवंगत महाराज सिंह की वीरता और समर्थकों के साथ अंग्रेज सरकार के खिलाफ उनके विद्रोह की जानकारी एप में है. सिख शहीद भाई महाराज सिंह का ब्यौरा भी इस एप में है, जिन्हें 1850 में औतराम जेल में बंद किया गया था. उनका जेल में ही 1856 में निधन हो गया था. यह जेल अब बंद पड़ी है.
सिंगापुर जनरल हॉस्पिटल जिस मैदान में है वहां पेड़ों के बीच एक कब्र शहीद भाई महाराज सिंह की थी, जिसे वर्ष 1966 में सिलात रोड सिख मंदिर (गुरद्वारा) स्थानांतरित किया गया. इस एप में औतराम रोड के आसपास का सिपाही लाइंस एरिया और कैंटोनमेंट रोड भी है, जहां ब्रिटिश राज के दौरान भारतीय सैनिकों ने अपनी बैरकें बनाई थीं. बुकित ब्राउन कब्रिस्तान और आसपास के कब्रिस्तान भी इस एप में अपने इतिहास के साथ हैं, जहां सिख गार्ड की 30 जोड़ी प्रतिमाएं हैं.
Copyright @ 2017.