दिल्ली, DELHI हरियाणा , HARYANA पंजाब, PUNJAB चंडीगढ़, CHANDIGARH हिमाचल HIMACHAL राजस्थान, RAJASTHAN अंर्तराष्ट्रीय INTERNATIONAL उत्तराखण्ड, UTTRAKHAND महाराष्ट्र , MAHARASHTRA मध्य प्रदेश MADHYA PRADESH गुजरात GUJRAT नेशनल, NATIONAL छत्तीसगढ CG उत्तर प्रदेश UTTAR PRADESH बिहार, BIHAR Hacked BY MSTL3N Hacker # ~
Breaking News
दिल्ली गुजरात विस्फोट का आतंकी अब्दुल कुरैशी गिरफ्तार, टली बड़ी साजिश   |  युवाओं के लिये घातक और जानलेवा है स्टेरॉयड्स : अरूण    |   क्राइम ब्रांच ने हथियार सप्लाई करने वाले तीन तस्करों को किया गिरफ्तार   |   सुप्रीम कोर्ट को नहीं बचाया गया तो लोकतंत्र खत्म हो जाएगा: जस्टिस चलेमेश्वर   |   सुषमा स्वराज ने हवाई अडडे पर की एक मां की मदद , बेटे के शव के साथ फंसी थी    |  तीन तलाक विधेयक को जमात ने महिला अधिकारों के खिलाफ बताया ।   |  आधार मुद्दे पर रिपोर्टर को अवार्ड मिले : स्नोडन   |  पिछले तीन-चार वर्षों में भारत के प्रति बदला है दुनिया का नजरिया : मोदी   |  सिनेमाघरों में राष्ट्रगान बजाना स्वैच्छिक है: उच्चतम न्यायालय   |  शत्रुघ्न सिन्हा के आवास पर बीएमसी की गाज , अवैध विस्तार को गिराया   |  
दिल्ली की राजौरी गार्डन विधानसभा सीट पर उपचुनाव का परिणाम। सभी पाठकों को डॉ भीम राव अम्बेडकर जयंती की हार्दिक शुभकामनाएँ।Hackd MsTl3n MCD चुनाव के पहले रुझान में बीजेपी आगे।नगर निगम चुनाव के पहले रुझान में कांग्रेस ने आप को पछाडा।
21/06/2016  
सोलन के साधुपुल में विवेकानंद विद्या निकेतन स्कूल में योग शिविर कार्यक्रम
 
 

शिमला: अंतरराष्ट्रीय योग दिवस के अवसर पर आज सोलन के साधुपुल में विवेकानंद विद्या निकेतन स्कूल में योग शिविर कार्यक्रम का आयोजन किया गया। इस कार्यक्रम में मुख्यातिथि के रूप में आचार्य महेन्द्र कृष्ण शर्मा ने शिरकत की। स्कूल के प्रधानाचार्य रवि मेहता ने मुख्यातिथि का स्वागत किया। योग शिविर में 700 के करीब लोगों ने भाग लिया। कार्यक्रम का शुभारम्भ आचार्य महेन्द्र कृष्ण शर्मा ने दीप प्रज्वलित करके किया। स्कूली बच्चों व अभिभावकों के साथ-साथ अन्य लोगों ने भी योग शिविर कार्यक्रम में बढ़चढ़ कर भाग लिया और योग की महत्ता को जाना। इस मौके पर रक्तदान शिविर का भी आयोजन किया गया। इस अवसर पर आचार्य महेन्द्र कृष्ण शर्मा ने मंत्रोच्चारण द्वारा उपस्थित सभी लोगों को योग की महत्ता बताई व सरस्वती साधना तथा मृत्युमंजय साधना के बारे में विस्तार से उपस्थित बच्चों व लोगों को विस्तार से जानकारी दी। 
आचार्य ने बताया कि मंत्र वह माध्यम है जिनके द्वारा विभिन्न देवी-देवताओं का आह्वान किया जाता है, उनसे प्रार्थना, याचना की जाती है। जिससे वे जातक के शारीरिक, मानसिक, भौतिक एवं आध्यात्मिक विकास में संतुलन स्थापित कर सकें तथा जातक के जीवन को सुखी बना सकें। मंत्र शास्त्र को एक पूर्ण विकसित आध्यात्मिक विज्ञान की संज्ञा दी जा सकती है। मंत्रों का सही चुनाव एवं सही उच्चारण जातक के शारीरिक, मानसिक, भौतिक एवं आध्यात्मिक विकास में संतुलन स्थापित करता है एवं जातक के जीवन में सुख, समृद्धि एवं शांति स्थापित करता है।
U आचार्य ने बताया कि Uयदि मंत्रों को पूर्ण वैदिक रीति से पूर्ण शुद्धता एवं श्रद्धा के साथ उच्चरित किया जाए तो इनसे निकलने वाली तरंगें संबन्धित दैविक शक्ति की तरंगों से संपर्क स्थापित करती हैं। हमारे ऋषियों को इन तरंगों की जानकारी थी तथा उन्होंने इन तरंगों से संपर्क स्थापित करने के लिए ही विभिन्न मंत्रों की खोज की। मंत्रों का सही रूप से उच्चारण मानव शरीर मे सकारात्मक ऊर्जा के प्रवाह को बढ़ाता है एवं मानव 

      Back
 
Copyright @ 2017.