राष्ट्रीय (29/06/2016) 
डॉ. श्यामा प्रसाद मुखर्जी पर प्रदर्शनी
संस्‍कृति मंत्रालय के अधीनस्‍थ नेहरू स्मारक संग्रहालय एवं पुस्तकालय (एनएमएमएल) और नई दिल्‍ली स्थित डॉ. श्यामा प्रसाद मुखर्जी रिसर्च फाउंडेशन ने आज यहां नेहरू स्मारक संग्रहालय एवं पुस्तकालय के सभागार में एक प्रदर्शनी के उद्घाटन समारोह का आयोजन किया जिसका शीर्षक था डॉ. श्यामा प्रसाद मुखर्जी: एक नि:स्वार्थ देशभक्‍त। संस्‍कृति एवं पर्यटन राज्‍य मंत्री (स्‍वतंत्र प्रभार) और नागरिक विमानन राज्‍य मंत्री डॉ. महेश शर्मा ने इस समारोह की अध्‍यक्षता की। भारतीय जनता पार्टी के राष्‍ट्रीय अध्‍यक्ष श्री अमित शाह ने इस प्रदर्शनी का उद्घाटन किया जिसमें डॉ. श्यामा प्रसाद मुखर्जी के जीवन एवं विरासत के बहुमुखी पहलुओं को कवर किया गया। इस अवसर पर श्री अमित शाह ने डॉ. श्यामा प्रसाद मुखर्जी के विभिन्‍न योगदानों को रेखांकित किया। उन्‍होंने कहा कि समकालीन इतिहासकारों ने डॉ. मुखर्जी के योगदानों, विशेष रूप से बंगाल विभाजन योजना एवं कश्मीर से जुड़े मुद्दों में उनकी भूमिका की उपेक्षा की थी।
त्रिपुरा के राज्‍यपाल प्रो. तथागत रॉय ने डॉ. श्यामा प्रसाद मुखर्जी पर विशेष व्‍याख्‍यान देते हुए डॉ. श्यामा प्रसाद मुखर्जी द्वारा अपने छोटे से जीवन में हासिल की गई अनेक उल्‍लेखनीय उपलब्धियों पर रोशनी डाली। भारतीय सांस्‍कृतिक संबंध परिषद के अध्‍यक्ष और एनएमएमएल की कार्यकारी परिषद के अध्‍यक्ष प्रो. लोकेश चंद्र ने इस कार्यक्रम में भाग लिया। डॉ. श्यामा प्रसाद मुखर्जी रिसर्च फाउंडेशन के निदेशक डॉ. अनिर्बन गांगुली ने दर्शकों का स्वागत किया और एनएमएमएल के निदेशक श्री संजीव मित्तल ने धन्‍यवाद ज्ञापन दिया।
Copyright @ 2019.