29/07/2016  
वाजपेयी और मोदी ने विश्व पटल पर भारत का मान बढ़ाया - रामलाल
 
 

रायपुर। भारतीय जनता पार्टी प्रदेश स्तरीय प्रशिक्षण वर्ग के द्वितीय दिन में भाजपा राष्ट्रीय महामंत्री संगठन रामलाल जी, राष्ट्रीय महामंत्री संगठन (सह) सौदान सिंह, राष्ट्रीय महासचिव एवं प्रदेश भाजपा प्रभारी अनिल जैन, राष्ट्रीय महामंत्री सरोज पाण्डेय, राष्ट्रीय महामंत्री मुरलीधर राव, भाजपा प्रदेशाध्यक्ष धरमलाल कौशिक, संगठन महामंत्री पवन साय, संघ प्रांत प्रचारक दीपक बिस्पूते, राष्ट्रीय उपाध्यक्ष विनय सहस्त्रबुद्धे, पूर्व सांसद गोपाल व्यास उपस्थित हुए। 
प्रशिक्षण वर्ग के दूसरे दिन पूर्व सांसद गोपाल व्यास ने विदेश नीति पर अपने विचार व्यक्त करते हुए कहा कि जब से केन्द्र में मोदी सरकार ने कार्य करना आरंभ किया है तब से भारत देश का मान विदेशों में बढ़ा है। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने विश्व पटल पर भारत की एक सशक्त छवि प्रस्तुत की है और विभिन्न अंतराष्ट्रीय परिपेक्ष्य में भारत की स्थिति स्पष्ट कर दुनिया का ध्यान अपनी ओर आकर्षित किया है। 
संघ प्रांत प्रचारक दीपक बिस्पूते ने हमारी संस्कृति एवं राष्ट्रीयता विषय पर प्रकाश डालते हुए कहा कि भारत का आधार राष्ट्रवाद है भारत सांस्कृतिक वाद के कारण एकत्रित हुआ राष्ट्र है। यहां वेदों को विश्व का सबसे प्राचीन ग्रंथ माना गया है। हमारे ऋषि जो अपने समय में वैज्ञानिक रहे हैं उन्होंने विभिन्न खानपान बोली होने के बाद भी हम सब को जोडऩे का काम किया है। यह धरती जो हमें अन्न जल वस्त्र देती है इसका हम पर बड़ा उपकार है और ऐसा कृतज्ञता का भाव हमें वेदों को पढऩे से प्राप्त होता है। अथर्वेद के पृथ्वी सूत्र के अनुसार धरती से मनुष्य का संबंध माता-पुत्र का है। हम सुबह उठने पर धरती में पैर रखने से पहले धरती माता को छू कर प्रणाम करते हैं यह संस्कृति भारत का राष्ट्रवाद है। 20 हजार साल पहले भी हमारे ऋषियों ने सारे विश्व को एक परिवार बताया है। भारत भूमि कर्म भूमि है पूण्यभूमि है, तपोभूमि है जहां देव भी जन्म लेने के लिए ललायीत रहते हैं। 
प्रशिक्षण वर्ग को राष्ट्रीय महामंत्री संगठन रामलाल जी ने भाजपा का इतिहास एवं विकास विषय पर चर्चा करते हुए कहा कि श्यामा प्रसाद मुखर्जी जैसे राष्ट्रवादी सोच वाले व्यक्ति ने राजनीतिक जीवन में कार्य करने के लिए जनसंघ की स्थापन की। आज हमें जो पश्चिमी बंगाल भारत में दिखाई पड़ता है वह श्यामा प्रसाद मुखर्जी के बंगाल बचाव आंदोलन के कारण दिखाई पड़ता है। नेहरू-लियाकत समझौते के बाद सत्ता त्याग कर राष्ट्र निर्माण के लिए मुखर्जी जी ने जनसंघ की स्थापना की। हम लोग राष्ट्र को एक निश्चित दिशा परम वैभव के शिखर में पहुंचाने के लिए कार्य करने वाले राजनीतिक कार्यकर्ता हैं। आजादी के बाद जन संघ की स्थापना हुई लेकिन कांग्रेस पार्टी शरारत पूर्ण ढंग से पूछती रही है कि आजादी के आंदोलन में जनसंघ का क्या योगदान रहा है। जब जनसंघ का गठन ही आजादी के बाद हुआ है तो जनसंघ का योगदान कैसे हो सकता है। 
रामलाल जी ने कहा 1980 में जनता पार्टी से अलग होकर भारतीय जनता पार्टी बनी तब से हम लगातार दो सांसद से बढ़ते हुए आज कांग्रेस पार्टी को पीछे कर सबसे बड़ा राजनीतिक दल बने हैं इसके पीछे हमारी राष्ट्रवादी विचारधारा वाली राजनीतिक सोच है। पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी एवं वर्तमान प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने विश्व पटल पर भारत का मान बढ़ाया है। 
भाजपा प्रदेश प्रभारी अनिल जैन ने कार्यकर्ताओं को सत्ता एवं संगठन में समन्यव विषय पर उद्बोधन दिया। उन्होंने समन्वय पर आधारित पं. दीनदयाल जी की एकात्म मानववाद रचना का उदाहरण देते हुए कहा कि समन्वय भारतीय संस्कृति का आधार मूल शब्द है। जिस प्रकार परिवार में बच्चा अन्य सदस्यों के साथ समन्वय करते हुए बड़ा होता है। उसी प्रकार हमारी पार्टी में कार्यकर्ता समन्वय के साथ विकास करता हुआ आगे बढ़ता है। कार्यकर्ता अपना अहम त्यागकर और विचार धारा के प्रति समर्पण भाव के साथ विचारों को आदान प्रदान करते हुए बढ़ता है। सत्ता-संगठन, कार्यकर्ता-जनप्रतिनिधि, जनप्रतिनिधि-जनता के बीच सतत संवाद जारी रहना चाहिए जिससे हर रुकावट का रास्ता आसानी से निकल सके। 
राष्ट्रीय भाजपा उपाध्यक्ष विनय सहस्त्रबुद्धे ने समाज एवं देश के समक्ष चुनौती विषय पर प्रशिक्षार्थियों से अपने विचार बांटे। उन्होंने कहा कि मोदी जी के आने के बाद देश में उम्मीद की किरण जागी है कि हम विभिन्न चुनौतियों से बाहर निकलने में सफल होंगे। प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना, मुद्रा बैंक योजना, स्वाईल हेल्थ कार्ड आदि अनेक जन कल्याणकारी योजनाओं को गांव, गरीब व किसानों तक पहुंचाने पर विशेष जोर दिया। उन्होंने कहा कि आंतरिक एवं बाह्य चुनौतियों को अपनी एकता के बल पर दूर किया जा सकता है। भारतीय जनता पार्टी ही है जो कहती है कि नेशन फस्र्ट, पार्टी सेकेंड व हम लास्ट। 

      Back
 
Copyright @ 2017.