04/08/2016  भाजपा को हिमाचल में सत्ता के सपने देखना छोड़ देना चाहिए- सुरेश भारद्वाज
शिमला, 3 अगस्त: हिमाचल प्रदेश कांग्रेस नेताओं ने भाजपा पर आरोप लगाया है कि वह मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह के खिलाफ अनाप-शनाप बयानवाजी कर लोगों को गुमराह करने की कोशिश कर रही है। उन्होंने कहा कि भाजपा का वीरभद्र हटाओ-प्रदेश बचाओ अभियान केवल मात्र अपने राजनैतिक लाभ के लिए है, जबकि प्रदेश में मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह के नेतृत्व में पूर्ण बहुमत वाली कांग्रेस सरकार है।
कांग्रेस उपाध्यक्ष गंगू राम मुसाफिर, महासचिव राम लाल ठाकुर, प्रवक्ता डा. सुभाष मंगलेट व केवल सिंह पठानिया ने कहा है कि भाजपा के मुंगेरी लाल के सपने हैं, जो कभी पूरे नहीं होंगे। उन्होंने कहा है कि जिस दिन से प्रदेश में मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह के नेतृत्व में सरकारी बनी थी, उसी दिन से भाजपा ने वीरभद्र सिंह के नेतृत्व को चुनौति देना शुरू कर दिया था। भाजपा के नेताओं ने प्रदेश सरकार को जल्द सत्ता से बाहर करने और प्रदेश में जल्द विधानसभा चुनाव के बड़े-बड़े हास्यस्पद दावे किए थे। इसी दौरान इन नेताओं ने मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह के खिलाफ अनेक षड़यंत्र रचते हुए, प्रदेश सरकार को अस्थिर करने के पूरे प्रयास किए, बावजूद इसके प्रदेश में मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह के नेतृत्व में सरकार मजबूती के साथ आज भी अटल है।
कांग्रेस नेताओं ने भाजपा नेता सुरेश भारद्वाज के बयान पर कड़ी प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कहा कि केन्द्र में भाजपा नेतृत्व एनडीए सरकार का असली चेहरा देश व प्रदेश के लोग अब भली-भांति जान चुके हैं, इसलिए उसे प्रदेश में सत्ता के सपने देखना छोड़ देना चाहिए। उन्होंने कहा है कि जो राजनैतिक दल चुनावों वायदों को सत्ता में अपने पर चुनावी जुमलों का नाम दे, उस दल पर लोग विश्वास नहीं करते।
कांग्रेस नेताओं ने कहा है कि भाजपा के हर दुष्प्रचार का कांग्रेस पार्टी मुंह तोड़ जबाव देगी। उन्होंने कहा है कि प्रदेश में मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह के नेतृत्व में कांग्रेस की एक मजबूत सरकार है जिसे कोई हिला नहीं सकता और वर्ष 2017 में होने वाले विधानसभा चुनावों के बाद प्रदेश में मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह के नेतृत्व में ही कांग्रेस सरकार बनेगी।

Copyright @ 2017.