:
पंजाब, PUNJAB गुजरात GUJRAT नेशनल, NATIONAL छत्तीसगढ CG उत्तर प्रदेश UTTAR PRADESH बिहार, BIHAR
ताज़ा खबर
दीपावली पर जगमगा उठी हज़रत निज़ामुद्दीन की दरगाह    |  मनीषा कोईराला और निर्माता राहुल मित्रा पहली पोलिश भारतीय फिल्म समारोह में सम्मानित   |  चोरी के तीन दिन बाद गाजियाबाद से मिली सीएम केजरीवाल की वैगन आर   |  नई दिल्ली इंस्टिट्यूट ऑफ मैनेजमेंट के छात्रों ने चलाया स्वच्छता अभियान   |  पांच दोस्तों की कहानी ‘तू है मेरा संडे’   |  देहरादून में सेक्स रैकेट का भंडाफोड़, मां-बेटे सहित चार लोग हिरासत में   |  फ़िल्म पद्मावती में अलाउद्दीन खिलजी बनें रणवीर सिंह का लूक हुआ आऊट !   |  पैसा वसूल है "मुआवजा"   |  सतीश बेतादपुर विलियम ओ नील इंडिया के निदेशक बने   |  कर्नल राज्यवर्धन सिंह राठौड़ ने युवाओं को पुरस्कृत किया   |  
दिल्ली की राजौरी गार्डन विधानसभा सीट पर उपचुनाव का परिणाम। सभी पाठकों को डॉ भीम राव अम्बेडकर जयंती की हार्दिक शुभकामनाएँ।श्रीनगर लोकसभा उपचुनाव में वोटों की गिनती जारी।MCD चुनाव के पहले रुझान में बीजेपी आगे।नगर निगम चुनाव के पहले रुझान में कांग्रेस ने आप को पछाडा।
20/11/2016  
आपातकाल की यातनाओं ने कांग्रेस को सबक सिखाया था : उपासने
 
 

रायपुर। प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष भूपेश बघेल द्वारा इंदिरा जैसा साहस मोदी में नहीं एवं कालेधन पर अंकुश लगाने सार्वजनिक घोषणा कर इंदिरा जी द्वारा आपातकाल लगाया गया इस दौरान आपातकाल से चंद नेताओं को छोड़कर आम जनता को किसी भी तरह की दिक्कतों का सामना नहीं करना पड़ा जैसे वक्तव्य पर टिप्पणी करते हुए भाजपा प्रवक्ता सच्चिदानंद उपासने ने कहा कि हां, मोदी जी में वह साहस नहीं कि वह इंदिरा जी जैसा आपातकाल लगाकर देश के सभी विपक्षी नेताओं को रातों रात बिना कारण बताये इक्कीस माह तक जेल की सीखचों में डाल दें। हां, मोदी जी में वह साहस भी नहीं है कि वे सेंसरशीप लगा अखबारों की स्वतंत्रता  छिन लें। संपादकों को जेल में डाल अखबारों को सील कर दें, सड़कों पर इंदिरा तेरा तानाशाही नहीं चलेगी जैसे नारे लगाने वालों को मीसा में बंद कर दें। अदालत का फैसला भी अपनी सत्ता बचाने रदद्ी की टोकरी में डाल दें। उपासने ने कहा कि शायद भूपेश बघेल को नहीं मालूम की आपातकाल में चंद नेताओं को ही दिक्कत नहीं थी अपितु संपूर्ण देश के लिए वह काला अध्याय था लोग संजय गांधी की जबरिया नसबंदी जैसे निर्णयों से परेशान थे और यही कारण है कि जब इंदिरा जी ने 1977 में संसद के चुनाव कराये तो त्रस्त जनता ने इंदिरा जी सहित पूरी कांग्रेस पार्टी को केवल दो सांसद जीताकर आपातकाल के यातनाओं का बदला लिया था।
उपासने ने कहा कि यदि भूपेश बघेल को आपातकाल की जानकारी नहीं है तो वे अपने पार्टी में पूर्व विधायक रमेश वल्र्यानी से जानकारी प्राप्त कर लें जिन्हें जनता ने आपातकाल की प्रताडऩा के चलते जनता पार्टी से जिताया था। उपासने कहा कि अटल जी सहित पूरी भाजपा ने हमेशा ही इंदिरा जी के जो अच्छे काम थे उनका नारी शक्ति के कारण सम्मान ही किया।

      Back