13/07/2017  अमरनाथ यात्रा पर हुए हमले को लेकर हाईकोर्ट में जनहित याचिका दायर शुक्रवार को हो सकती है मामले की सुनवाई,याचिका में केंद्र व जम्मू-कश्मीर सरकार को बनाया आरोपी याचिका में मांग - 7 अगस्त से चलने वाले वाली अमरनाथ यात्रा की सुरक्षा का जिम्मा श्राइन बोर्ड से वापिस लेकर खुद केंद्र सरकार अपने हाथ में ले
चंडीगढ़-अमरनाथ यात्रा पर हुए आतंकी हमले को लेकर आवाज़-ए-हिंदुस्तान व ब्राह्मण महापंचायत के राष्ट्रीय अध्यक्ष व श्री हिन्दू तख़्त के राष्ट्रीय प्रचारक वीरेश शांडिल्य ने आज पंजाब एवं हरियाणा हाईकोर्ट में जनहित याचिका दायर की l शांडिल्य ने यह जानकारी जारी प्रेस ब्यान से दी l उन्होंने कहा की उनकी यह याचिका हाईकोर्ट के एडवोकेट निवेदिता शर्मा एवं अभिनय शर्मा ने दायर की है l शांडिल्य ने बताया की जनहित याचिका में 7 अगस्त तक चलने वाली अमरनाथ यात्रा की सुरक्षा को पुख्ता करने व अमरनाथ श्राइन बोर्ड से यात्रा की सुरक्षा का जिम्मा वापिस लेकर गृह मंत्रालय को दिए जाने बारे मांग की गई है l

शांडिल्य ने कहा 100 करोड़ हिन्दुओं की आस्था से जुड़ी अमरनाथ यात्रा पर आतंकी हमले की सूचना आईबी ने पहले से दे दी थी उसके बावजूद भी जम्मू-कश्मीर व केंद्र सरकार गंभीर नहीं थी शांडिल्य ने कहा अमरनाथ श्राइन बोर्ड का ब्यान आया की आतंकी हमले में मरने वाले याति पंजीकृत नहीं थे जिसपर शांडिल्य ने दायर जनहित याचिका में जम्मू-कश्मीर सरकार व केंद्र सरकार से पूछा की जो बस अमरनाथ यात्रा के दर्शन के लिए जा रही है वह बस जम्मू से चैक होकर बालटाल तक 2000 सुरक्षाकर्मियों के पहरे में गुजरती है जिनमे आईटीबीपी,बीएसऍफ़,सीआरपीऍफ़ व जम्मू-कश्मीर पुलिस शामिल होती है ऐसे में गुजरात की यह बस अमरनाथ यात्रा गुफा तक कैसे पहुंची और गुफा के बाद कश्मीर के बेटांगू में हमला हुआ ऐसे में शांडिल्य ने जनहित याचिका दायर कर हाईकोर्ट से गुहार लगाई है की यह बस इतनी सुरक्षा होने के बावजूद भी कैसे बालटाल तक पहुंची और बिना पंजीकृत के यात्रियों ने दर्शन कैसे किए यह सुरक्षा का एक बड़ा सवाल है l शांडिल्य ने जनहित याचिका में कहा की श्री अमरनाथ श्राइन बोर्ड यात्रा की सुरक्षा को लेकर बुरी तरह फेल हुआ है इसलिए 7 अगस्त 2017 तक चलने वाली अमरनाथ यात्रा की सुरक्षा का जिम्मा केंद्र सरकार को सौंपा जाए क्योंकि कही न कही आतंकियों ने हिन्दुओं के दिल-दिमाग में आतंक फैलाने का प्रयास किया और अमरनाथ यात्रा पर हुए हमले के बाद हिन्दू-मुसलमानों में तनाव पैदा हुआ है और जो देश की एकता और अखंडता के लिए अच्छे संकेत नहीं है l वीरेश शांडिल्य ने कहा की उनकी जनहित याचिक पर शुक्रवार को सुनवाई हो सकती है l आज जनहित याचिका एडवोकेट निवेदिता शर्मा व अभिनय शर्मा ने दायर कर दी है l उन्होंने कहा जनहित याचिका दायर करने का कारण जहाँ अमरनाथ यात्रा की सुरक्षा है वही देश की अमन और शान्ति का भी अहम् मसला है l
Copyright @ 2017.