15/07/2017  
दक्षिण अफ्रीका ने हरियाणा के साईलॉज, कृषि एवं कौशल विकास भण्डारण तथा भूमि सुधार के अन्य क्षेत्रों में सहयोग बढ़ाने की इच्छा जाहिर की
 
 

दक्षिण अफ्रीका ने हरियाणा के साईलॉज, कृषि एवं कौशल विकास भण्डारण तथा भूमि सुधार के अन्य क्षेत्रों में सहयोग बढ़ाने की इच्छा जाहिर की है।
    हरियाणा के खाद्य, नागरिक आपूर्ति तथा उपभोक्ता मामले राज्यमंत्री श्री कर्णदेव काम्बोज की अगुवाई में साईलॉज व कृषि कौशल विकास भण्डारण में नवीनतम  तकनीक का अध्ययन करने के लिए गए एक उच्च स्तरीय शिष्टमंडल के साथ बातचीत के दौरान की।
     शिष्टमंडल ने ब्लैक बिजलेंस काऊसिंल के श्री जॉलिसा मौरेंस के कार्यकारी अध्यक्ष, अन्तर्राराष्ट्रीय व्यापार एवं निवेश सम्बन्धित, कृषि एवं भूमि सुधार कमेटी के प्रमुख श्री ए एन दुपरी विलाकाजी, आर्थिक  विकास कमेटी के प्रमुख  टेबाकाजी म्यायाक के अतिरिक्त दक्षिण अफ्रीका के वित्त मंत्री मालुसी गिगाबा ्रके साथ  विस्तार से चर्चा की।  बैठक में साईलाज एवं एग्री-फार्मिंग के क्षेत्र में विशेष रूप से सहयोग की पेशकश की।
हरियाणा के हर घर तक रसोई गैस उपलब्ध करवाकर राज्य को कैरोसिन मुक्त प्रदेश बनाने तथा सार्वजनिक विपतरण प्रणाली को ऑनलाइनकर पारदशी बनाने के बाद श्री कर्णदेव काम्बोज ने अनाज सुरक्षित करने की पहल की और उन्होंने अन्न- भण्डारण की साईलॉज तकनीक हरियाणा में स्थापित करने का  लक्ष्य निर्धारित किया है।
    इससे पूर्व भी श्री कांबोज मध्यप्रदेश और छत्तीसगढ़ का दौरा कर अनाज को सुरक्षित रखने की तकनीक के बारे में जानकारी हासिल कर चुके हैं इन दोनों राज्यों में यहां पर स्टील के साइलॉज बनाए गए है। मॉरीशस और दक्षिण अफ्रीका में स्टील के अलावा फाइबर से भी साइलॉज बनाए जाते है।  हरियाणा में केन्द्र सरकार ने साढ़े नौ लाख मीट्रिक टन क्षमता के गोदाम बनाने की स्वीकृति दी है।  हरियाणा में लंबे समय से परम्परागत गोदाम बने है और काफी मात्रा में अनाज खुली जगह में भी लगाया जाता रहा है। साइलॉज बनने पर पूरा अनाज सुरक्षित रहेगा।
    शिष्टमंडल में विधायक सुभाष सुधा,भगवान दास कबीर पंथी, खाद्य आपूर्ति एवं उपभोक्ता मामले विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव श्री एस एस प्रसाद एवं संयुक्त निदेशक, जय पाल सिंह के अलावा अन्य अधिकारी शामिल है।

      Back
 
Copyright @ 2017.