:
दिल्ली, DELHI हरियाणा , HARYANA पंजाब, PUNJAB चंडीगढ़, CHANDIGARH हिमाचल HIMACHAL राजस्थान, RAJASTHAN अंर्तराष्ट्रीय INTERNATIONAL उत्तराखण्ड, UTTRAKHAND महाराष्ट्र , MAHARASHTRA मध्य प्रदेश MADHYA PRADESH गुजरात GUJRAT नेशनल, NATIONAL छत्तीसगढ CG उत्तर प्रदेश UTTAR PRADESH बिहार, BIHAR
ताज़ा खबर
राष्‍ट्रपति भवन कल से जनता के लिए सप्‍ताह में 4 दिन खुलेगा   |  लव जेहाद : न्यायालय का बंद कमरे में बातचीत वाली याचिका पर तत्काल सुनवाई से इनकार   |  सुखोई लड़ाकू विमान से पहली बार ब्रह्मोस मिसाइल का सफल परीक्षण   |  15वें वित्त आयोग के गठन को मंजूरी, जजों की भी बढ़ेगी सैलरी   |  महिलाओं के लिए ‘‘सुरक्षित शहर’’ योजना जल्द   |  पंडित दीनदयाल उपाध्याय सम्मान 2017 से सम्मानित हुए सोमेन कोले   |  भारत की मानुषी छिल्लर मिस वर्ल्ड बनीं   |  अभिनेता राहुल रॉय भाजपा में शामिल   |  न्‍यायपालिका में सुधार के लिए योजना जारी रखने की सरकार ने दी मंजूरी   |  बिल गेट्स ने सीएम योगी से की मुलाकात   |  
दिल्ली की राजौरी गार्डन विधानसभा सीट पर उपचुनाव का परिणाम। सभी पाठकों को डॉ भीम राव अम्बेडकर जयंती की हार्दिक शुभकामनाएँ।श्रीनगर लोकसभा उपचुनाव में वोटों की गिनती जारी।MCD चुनाव के पहले रुझान में बीजेपी आगे।नगर निगम चुनाव के पहले रुझान में कांग्रेस ने आप को पछाडा।
24/07/2017  
सन्त निरंकारी मिशन द्वारा रा ेहड ़ू म ें आयोजित शिविर में 117 युनिट रक्तदान
 
 

रोहड़ू - सन्त निरंकारी मिशन की रोहड़ू ब्रांच द्वारा स्थानीय राजकीय बहुतकनीकी परिसर में
एक स्वैच्छिक रक्तदान शिविर का आयोजन किया गया, जिसमें 117 युनिट रक्त एकत्रित किया गया। इस शिविर में क ुल 126 रक्तदाताओं न े पंजीकरण करवाया। शिविर का शुभारंभ शिमला जिला परिषद के उपाध्यक्ष श्री सुरेन्द्र रेटका जी ने स्वयं रक्तदान करक े किया। उपस्थित रक्तदाताओं को सम्बोधित करते हुए मुख्य अतिथि श्री सुर ेन्द्र रेटका जी ने कहा कि रक्तदान मानवता क े प्रति निष्काम सेवा है, जो आज निरंकारी मिशन के अन ुयायियों में बहुत स्पष्ट रूप से द ेखन े को मिल रही है। इसी कारण मिशन जन कल्याण क े क्षेत्र में एक अग्रणी संस्था क े रूप में विख्यात है। आपने कहा कि स्वैच्छिक रक्तदान को सर्वोत्तम माना गया है और यह किसी क े जीवन को बचाने में काम आता है। इस प्रकार की गतिविधियों में शामिल होना अपन े आप में एक पुण्य का कार्य है। उन्होंने कहा कि रक्त दान एक महादान है और मिशन क े स्वयंसेवक जो अच्छे कर्मों का संचय कर रहे हैं, वह अत्यन्त सराहनीय है। आपने मिशन क े स्वयंसेवकांे को वृक्षारोपण के क्षेत्र मे भी अपना योगदान देने का सुझाव दिया। मिशन की ज ुब्बल ब्रांच क े मुखी श्री अशा ेक क ुमार जी ने अपन े स्वागत भाषण कहा कि संन्त निर ंकारी मिशन वर्तमान सद ्गुरु माता सविंदर हरद ेव जी महाराज की पे्ररणा व आशीर्वाद से रक्तदान के क्षेत्र म ें निष्काम भाव से सेवा कार्य कर रहा है। आपने कहा कि मानव जीवन का स्तर क ेवल ईश्वरीय ज्ञान प्राप्त करके ही ऊ ंचा हो सकता है, जो क ेवल सद्गुरू की क ृपा द्वारा ही संभव है। हमें अपनी सोच को भी सकारात्मक दिशा देनी होगी, ताकि देश व समाज के प्रति अपने कर्तव्यों का सही प्रकार से निर्वहन हो सके। स्थानीय संयोजक श्री क ृष्ण सिंह फिश्टा जी न े धन्यवाद प्रस्ताव प्रस्तुत करते हुए अपन े सम्बोधन में कहा कि सन्त निरंकारी मिशन मानव मात्र की आध्यात्मिक जागृति के साथ-साथ समाज सेवा के क्षेत्र में भी अपना
योगदान द े रहा है। उन्हो ंने बताया कि इस वर्ष शिमला जोन क े अन्तर्गत लगभग एक माह क े अन्तराल पर विभिन्न क्षेत्रों सोलन, सुबाथू, रोहडू़, दाड़लाघाट और नालागढ़ में रक्तदान शिविर आयोजित किए जा रहे हैं। उन्होंने मुख्यअतिथि सहित इस पुनीत कार्य में योगदान द े रहे समस्त रक्तदाताओं, सेवादल व एस.एन.सी. एफ. स्वयंसेवकों, डाॅक्टरों की टीम, राजकीय बहुतकनीकी स्टाफ व स्थानीय प्रशासन का धन्यवाद किया। स्थानीय सिविल अस्पताल व इन्दिरा गांधी आयुर्विज्ञान संस्थान, शिमला से आए डाॅक्टरों की देख-रेख म ें तकनीकी सहायकों की टीम क े साथ मिलकर रक्त एकत्रित किया गया। इन्दिरा गांधी आयुर्विज्ञान संस्थान, शिमला रक्तकोष से आए डाॅ0 विक्टर जी ने कहा कि सन्त निर ंकारी मिशन अपन े शिविरों क े माध्यम स े हिमाचल प्रद ेश मे ं सर्वाधिक रक्तदान करता है। उन्होन ें कहा कि सभी स्वस्थ व्यक्ति जिनकी आयु 18 से 65 वर्ष के बीच है, तीन माह के अन्तराल पर रक्तदान कर सकते हैं। रक्तदान करन े से हमारे शरीर को किसी प्रकार की हानि नहीं होती, अपितु नियमित रक्तदान करने से ब्लड प्रैशर व ब्लड क ैंसर जैसी बिमारियों क े होने की संभावना नहीं रहती। इस अवसर पर श्री हरपाल चैहान व स्थानीय प्रशासन की ओर से श्री क ुशाल सिंह वांशा जी विशेष अतिथि क े रूप में उपस्थित थे। इन्होंने स्वयं भी रक्तदान किया। मंच संचालन जोनल मुख्यालय शिमला से आए श्री राम क ृष्ण शर्मा जी ने किया।

      Back