27/07/2017  यह खेद का विषय है कि जनादेश की अवहेलना करते हुये केजरीवाल सरकार नगर निगमों के कार्य को प्रभावित करने के लिये अपनी पार्टी के कार्यकर्ताओं को पिछले दरवाजे से एल्डरमैन के रूप में नियुक्त करने का प्रयास कर रही है - मनोज तिवारी
नई दिल्ली, दिल्ली भाजपा अध्यक्ष श्री मनोज तिवारी ने कहा है कि यह खेद का विषय है कि हाल ही में हुये नगर निगम चुनावों में मिले जनादेश की अनदेखी करते हुये अरविंद केजरीवाल सरकार, नगर निगमों में पुनः निर्वाचित भाजपा प्रशासन को कमजोर करने की कोशिश कर रही है। एक ओर तीन महीने बीत जाने के बाद भी दिल्ली सरकार राजनीतिक द्वेष के कारण नगर निगमों द्वारा वार्ड परिसीमन के आधार पर नये जोन के गठन की अधिसूचना से संबंधित फाइल को दबाये बैठी है और दूसरी ओर आजकल केजरीवाल सरकार नगर निगमों में एल्डरमैन के पदों पर पार्टी कार्यकर्ताओं को नियुक्त करने का प्रयास कर रही है। श्री तिवारी ने कहा कि ऐसा करके केजरीवाल सरकार पूर्ववर्ती कांग्रेस सरकार की तरह दिल्ली नगर निगम अधिनियम का उल्लंघन कर रही है जिसमें यह स्पष्ट रूप से कहा गया है कि नागरिक और प्रशासनिक क्षेत्र के प्रख्यात व्यक्तियों को ही एल्डरमैन के पदों पर नियुक्त किया जाना चाहिये। दिल्ली भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि यह खेद का विषय है कि जनादेश कि अवहेलना करते हुये केजरीवाल सरकार नगर निगमों के कार्य को प्रभावित करने के लिये अपनी पार्टी के कार्यकर्ताओं को पिछले दरवाजे से एल्डरमैन के रूप में नियुक्त करने का प्रयास कर रही है। श्री तिवारी ने यह भी कहा कि दिल्ली भाजपा नये जोनों के गठन की अधिसूचना को रोके रखने के लिये केजरीवाल सरकार की कड़ी निंदा करती है जिसके कारण पिछले 3 महीनों से नगर निगमों के कार्य रूके पड़े हैं। नवनिर्वाचित पार्षदों को बजट आवंटन नहीं मिल रहा है क्योंकि वार्ड समितियों और सबसे महत्वपूर्ण स्थायी समिति का गठन भी रूका पड़ा है।
Copyright @ 2017.