:
दिल्ली, DELHI हरियाणा , HARYANA पंजाब, PUNJAB चंडीगढ़, CHANDIGARH हिमाचल HIMACHAL राजस्थान, RAJASTHAN अंर्तराष्ट्रीय INTERNATIONAL उत्तराखण्ड, UTTRAKHAND महाराष्ट्र , MAHARASHTRA मध्य प्रदेश MADHYA PRADESH गुजरात GUJRAT नेशनल, NATIONAL छत्तीसगढ CG उत्तर प्रदेश UTTAR PRADESH बिहार, BIHAR
ताज़ा खबर
युवती का यौन शोषण करने के आरोप में फलाहारी बाबा गिरफ्तार   |  भारी बारिश के बावजूद, लीला का सफल मंचन   |  हिंदी दिवस पखवाड़ा पर युवाओं को स्वच्छता अभियान का हिस्सा बने का दिया सन्देश   |   लवकुंश रामलीला में 40 बॉलीवुड एक्टर ले रहे है भाग   |  शराबबंदी के बाद अब एनर्जी ड्रिंक और फ्रूट बियर पर उठे सवाल,SC ने कहा पटना हाईकोर्ट तय करे…   |   हिंदी दिवस पखवाडा पर नारा लेखन प्रतियोगिता का आयोजन   |   ब्लॉक स्तरीय खेलकूद प्रतियोगिता का आयोजन    |  *दिल्ली का वांछित अपराधी सोनू दरियापुर गिरफ्तार*   |  ‘डिजिटल समावेशन वित्‍तीय समावेशन की बुनियाद है’ – रविशंकर प्रसाद    |  भारत, बेलारूस के साथ रिश्‍ते मजबूत बनाने के लिए प्रतिबद्ध : राष्‍ट्रपति    |  
दिल्ली की राजौरी गार्डन विधानसभा सीट पर उपचुनाव का परिणाम। सभी पाठकों को डॉ भीम राव अम्बेडकर जयंती की हार्दिक शुभकामनाएँ।श्रीनगर लोकसभा उपचुनाव में वोटों की गिनती जारी।MCD चुनाव के पहले रुझान में बीजेपी आगे।नगर निगम चुनाव के पहले रुझान में कांग्रेस ने आप को पछाडा।
28/07/2017  
डाॅ. कलाम कहते थे बड़ी विचारधारा के लोग धर्म का उपयोग मित्र बनाने के लिए करते हैं-मनोज तिवारी
 
 

नई दिल्ली,   दिल्ली भाजपा युवा मोर्चा के संयोजन में आज नई दिल्ली के सिविक सेन्टर में आयोजित एक सादे समारोह में भारत के पूर्व राष्ट्रपति भारत रत्न डाॅ. ए.पी.जे. अब्दुल कलाम को उनकी पुण्य तिथि पर श्रद्धांजलि अर्पित की गई। दिल्ली भाजपा अध्यक्ष एवं सांसद श्री मनोज तिवारी, युवा मोर्चा की राष्ट्रीय अध्यक्ष श्रीमती पूनम महाजन, दिल्ली पुलिस के विषेश आयुक्त श्री बी. के. सिंह, पूर्व सैनिक प्रकोष्ठ संयोजक पूर्व ब्रिगेडियर श्री बी. डी. मिश्रा ने डाॅ. कलाम के जीवन से जुड़े संस्मरण रखते हुये उन्हें श्रद्धांजलि दी। इस अवसर पर केन्द्रीय मंत्री श्री रामकृपाल यादव, भाजपा अनुसूचित जाति मोर्चा के राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री विनोद कुमार सोनकर, भाजपा अल्पसंख्यक मोर्चा के राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री अब्दुल रशीद अंसारी, सांसद श्री पुष्पेन्द्र सिंह, श्री रमेश कौशिक, श्री हरीश द्विवेदी और राजेश पांडेय एवं और दिल्ली भाजपा की ओर से महामंत्री श्री कुलजीत सिंह चहल, उपाध्यक्ष श्री अभय वर्मा, श्री राजीव बब्बर, श्रीमती योगिता सिंह, श्रीमती मोनिका पंत, युवा मोर्चा अध्यक्ष श्री सुनील यादव, महिला मोर्चा अध्यक्ष श्रीमती पूनम पाराशर, मंत्री श्री संजीव शर्मा एवं श्रीमती सुमित्रा दहिया आदि ने डाॅ. कलाम के चित्र पर श्रद्धासुमन अर्पित किये। दिल्ली भाजपा अध्यक्ष श्री मनोज तिवारी ने डाॅ. अब्दुल कलाम को श्रद्धासुमन अर्पित करते हुये कहा है कि उनका जीवन एक आदर्श जीवन है।  एक छोटे से कस्बे के साधन विहीन परिवार में जन्मे डाॅ. अब्दुल कलाम ने शिक्षा एवं संघर्ष के माध्यम से व्यक्ति के जीवन में एक सुखद एवं सफल परिवर्तन लाया जा सकता है, इस बात को चरितार्थ किया।श्री तिवारी ने कहा कि एक वैज्ञानिक के तौर पर हो या भारत के राष्ट्रपति के कार्यकाल हो डाॅ. अब्दुल कलाम ने त्याग के भाव से कार्य किया और अपनी आय को एवं उपलब्ध सार्वजनिक संसाधनों का उपयोग हमेशा लोक कल्याण कार्यों के लिए किया।  देश में शिक्षा के प्रचार के लिए राष्ट्रपति रहते हुये जो उन्होंने कार्य किया वह उल्लेखनीय रहा और 2015 में उनकी अकास्मिक मृत्यु भी शिक्षा प्रचार अभियान के दौरान शिलांग में हुई।  डाॅ. कलाम की मृत्यु के बाद उनके जन्मदिवस 15 अक्टूबर को छात्र दिवस घोषित किया जाना उनके प्रति देश की सच्ची श्रद्धांजलि है।श्री तिवारी ने कहा कि डाॅ. कलाम एक धर्म परायण व्यक्ति थे और वह आदर सभी धर्मों का करते थे।  डाॅ. कलाम कहते थे कि बड़ी विचारधारा के लोग धर्म का उपयोग मित्र बनाने के लिए करते हैं, जबकि छोटी विचार धारा के लोग धर्म को विवाद एवं लड़ाई का मुद्दा बनाते हैं, हम सभी को उनके दिखाये इस मार्ग का अनुसरण करना चाहिये। श्रीमती पूनम महाजन ने कहा कि प्रारम्भिक तौर मुझे डाॅ. अब्दुल कलाम का पहला परिचय देश के करोड़ों छात्रों की तरह एक वैज्ञानिक के रूप में मिला पर जब 2002 में श्री अटल बिहारी वाजपेयी की सरकार ने डाॅ. कलाम को भारत का राष्ट्रपति बनाये जाने का निर्णय लिया तो मुझे अपने स्वर्गीय पिता के माध्यम से डाॅ. कलाम की बहुप्रतिभावान शख्शियत को समझने का अवसर मिला।  डाॅ. कलाम का जीवन एक मिशाइलमैन होने तक सीमित नहीं था, उन्होंने विभिन्न धर्मों के ग्रंथों का पूरा अध्ययन किया था और वह कृषि एवं खाद्य पदार्थों, शिक्षा एवं स्वास्थ्य सेवाओं, सूचना प्रसारण, विद्युत अर्जन और सड़क परिवहन जैसे क्षेत्रों में देश को सर्वोत्तम बनाने में विश्वास रखते थे अपनी प्रतिभाओं एवं शिक्षा के प्रसार के प्रति रूझान के चलते  डाॅ. कलाम अपने जीवन काल में भी और उसके उपरान्त भी युवाओं के प्रेरणा श्रोत हैं और रहेंगे। केन्द्रीय मंत्री श्री रामकृपाल यादव ने कहा कि डाॅ. कलाम ने एक राष्ट्रपति के रूप में कभी भी सरकारी सुविधाओं का निजी उपयोग नहीं किया, न ही अपने परिजनों के लिए किया।  एक वैज्ञानिक और एक राष्ट्र अध्यक्ष के तौर पर उन्होंने देश के किसानों के लिए भी उतना ही ध्यान दिया जिनता सेना के लिए मिशाइल बनाने के लिए।डाॅ. कलाम के सुरक्षा अधिकारी के रूप में कार्य कर चुके दिल्ली पुलिस के विशेष आयुक्त श्री बृजेश कुमार सिंह ने कहा कि डाॅ. कलाम एक राष्ट्रपति एवं वैज्ञानिक होने के साथ-साथ एक अच्छे साहित्यकार भी थे और उनकी प्रेरणा से ही मैंने अपनी पुस्तक विश्वामित्र लिखी।  उन्होंने डाॅ. कलाम के सुरक्षा अधिकारी के रूप में अपने संस्मरण रखते हुये कहा कि जैसे ही डाॅ. कलाम उत्तर पूर्व राज्यों के लोगों, आदिवासियों, बच्चों, छात्रों से जुड़े किसी भी कार्यक्रम में पहुंचते थे तो अनेक बार उनके उत्साह के चलते सुरक्षा नियमों की अवहेलना होती थी, पर डाॅ. कलाम का छात्रों एवं आदिवासियों आदि की तरफ लगाव देखकर सुरक्षाकर्मी भी पूरे उत्साह से काम जुटे रहते थे।  डाॅ. कलाम कभी भी निजी सुरक्षा की परवाह नहीं करते थे।  पूर्व ब्रिगेडियर श्री बी डी मिश्रा ने कहा कि एक राष्ट्रपति होने के के नाते डाॅ. कलाम सेना के सर्वोच्च अधिकारी थे, अपने कार्यकाल में वह देश की हर सीमा पर जाकर सैन्यकर्मियों से मिले जिसके चलते वह सैना में बहुत लोकप्रिय हुये।

      Back