15/12/2017  
आईएएस चाहते हैं कि भ्रष्टाचार निरोधक एक्ट में बदलाव
 

लखनऊ (एजेंसी)। आईएएस अधिकारी चाहते हैं कि भ्रष्टाचार निरोधक एक्ट में थोड़ा बदलाव किया जाए, ताकि काम करने वाले अधिकारियों को बेवजह मुकदमे का सामना न करना पड़े। आईएएस अधिकारियों की यह भी मांग है कि सेवानिवृत्त अधिकारियों पर भी मुकदमा चलाने से पहले सरकार की अनुमति जरूरी हो।
यूपी आईएएस एसोसिएशन की सालाना आम सभा (एजीएम) में यह मुद्दा खास तौर पर उठा। शुक्रवार को सिविल सर्विस इंस्टीटयूट में आईएएस अधिकारियों की दो घंटे बैठक चली। बैठक में कहा गया कि एक्ट की धारा 13 (डी) भ्रष्टाचार के मामले में उस अधिकारी को भी आरोपी बनाती है जिसके दस्तखत संबंधित फाइल पर होते हैं। हालांकि यह मुद्दा संसदीय समिति के सामने विचाराधीन है। अधिकारियों का कहना था कि इससे ईमानदार अधिकारियों के मनोबल पर प्रतिकूल असर पड़ेगा और फाइल पर निर्णय होने में देरी होगी। बैठक में काडर की गरिमा में आ रही गिरावट पर चिंता जाहिर की गई। भ्रष्टाचार के छींट इस काडर पर आने से छवि प्रभावित होती है। अन्य संवर्गों को भी साथ लेना चाहिए और उनके हित का भी ध्यान रखना चाहिए। यह भी चर्चा हुई कि वरिष्ठ अधिकारियों के सरकारी आवासीय कालोनी आरक्षित कर दी जाए। रिटायर अधिकारियों के लिए वाहन प्रवेश पत्र की सुविधा दिलाई जाए।
एसोसिएशन ने तय किया है कि युवा अधिकारियों के लिए वरिष्ठ अधिकारी बतौर मेंटर काम करें। इससे नए अधिकारियों को शासन प्रक्रिया व कार्यदायित्व सीखने में बहुत मदद मिलेगी। मसलन, 2007 बैच के अधिकारी 2017 बैच के अधिकारियों के लिए मार्गदर्शक बन सकते हैं।
इसमें केंद्रीय प्रतिनियुक्ति पर तैनात अनिल स्वरूप व देवेंद्र स्वरूप (दोनों 1981 बैच) के अलावा यूपी सरकार में तैनात चंद्रप्रकाश, अवनीश अवस्थी, आलोक कुमार, संजय भूसरेड्डी, पार्थ सारथी सेन शर्मा, जगदीश प्रसाद, अनिल कुमार, अराधना शुक्ला , हरिओम ने अपनी बात रखी।राज्स्व परिषद के अध्यक्ष प्रवीर कुमार को एसोसिएशन ने वरिष्ठतम अधिकारी होने के नाते अपना अध्यक्ष चुन लिया। खाद्य आयुक्त आलोक कुमार एसोसिएशन के सचिव बने हैं। आलोक कुमार ने पत्रकारों को बताया कि अखिलेश मिश्र, विजय करण आनंद व राजेश को संयुक्त सचिव बनाया गया है। पंकज कुमार को कोषाध्यक्ष बनाया गया है। इसके अलावा एक महिला अधिकारी को संयुक्त सचिव बाद में बनाया जाएगा। सूचना निदेशक अनुज कुमार झा ने बताया कि एसोसिएशन ने तय किया कि अच्छा काम करने वाले अधिकारियों के नए प्रयोगों का प्रकाशित कराया जाएगा। ताकि जनता को भी इसकी जानकारी हो ।एसोसिएशन के अध्यक्ष प्रवीर कुमार ने कहा कि बैठक में इस बात पर चर्चा हुई कि कैसे खुद को इम्प्रूव करें और टीम के रूप में काम करें। समाज भी हमसे यही अपेक्षा करता है कि हम लोग अपनी सर्वोत्तम क्षमता का उपयोग उसकी बेहतरी के लिए करें।

      Back
 
Copyright @ 2017.