26/01/2018  देशभर में गौरव के साथ मनाया गया गणतंत्र दिवस
*देशभक्ति की भावना के साथ देश भर में गणतंत्र की धूम*
नई दिल्ली । 69वां गणतंत्र दिवस आज देश भर में पूरे जोशो खरोश और देशभक्ति की भावना के साथ मनाया जा रहा है। इस अवसर पर राज्यों में अनेक कार्यक्रम आयोजित किए जा रहे हैं और राष्ट्रीय पर्व पर देश की जनता में गजब का उत्साह है। 
मिजोरम के राज्यपाल लेफ्टनेंट जनरल (सेवानिवृत्त) निर्भय शर्मा ने असम राइफल्स के मैदान में राष्ट्रीय ध्वज फहराया तथा राज्य के लोगों, गैर सरकारी संगठनों, धार्मिक संस्थानों और मीडिया को शांति और सौहार्द की रक्षा के लिए प्रतिबद्ध रहने के लिए बधाई दी। झंडा फहराने के बाद शर्मा ने कहा कि कानून प्रवर्तन एजेंसियों, सिविल सोसाइटी और स्वयंसेवी संगठनों के सामूहिक प्रयासों और प्रतिबद्धताओं ने मिजोरम को देश के सवार्धिक शांति पूर्ण राज्यों में से एक बनाए रखने को संभव बनाया । अरुणाचल प्रदेश के राज्यपाल ब्रिगेडियर (सेवानिवृत्त) डाक्टर बी डी मिश्रा ने ईटानगर के इंदिरा गांधी पार्क में राष्ट्रीय ध्वज फहराया। उन्होंने लोगों से संविधान में निहित मूल्यों को बनाए रखने के लिए सामूहिक प्रतिज्ञा लेने का आग्रह किया। साथ ही राज्य के लोगों को राज्य सरकार द्वारा चलाए जा रहे उल्लेखनीय विकास योजना में योगदान देने के लिए प्रोत्साहित किया। तमिलनाडु के राज्यपाल बनवारीलाल पुरोहित ने मरीना में तिरंगा झंडा फहराने के बाद तोपों की सलामी ली। सशस्त्र बलों के जवानों और सुरक्षा कर्मियों ने यहां के मशहूर मरीना तट के कामराज सलाई पर बेहतरीन मार्च निकाला। जिसे देखने भारी संख्या में लोग आए हुए थे। इस अवसर पर राज्य के मुख्यमंत्री के पलानीस्वामी ने पुलिसकर्मियों को विभिन्न पुरस्कार से सम्मानित किया। उप मुख्यमंत्री ओ पनीरसेल्वम, विधानसभा अध्यक्ष पी धनपाल और मद्रास उच्च न्यायालय की मुख्य न्यायाधीश इंदिरा बनर्जी भी मौजूद थीं। पूरे ओडिशा में कड़ी सुरक्षा के बीच हर्षो-उल्लास के साथ 69वां गणतंत्र दिवस मनाया जा रहा है। मुख्यमंत्री नवीन पटनायक ने कटक के बाराबती स्टेडियम में राष्ट्रीय ध्वज फहराया। इस दौरान उन्होंने कहा कि राज्य की वृद्धि दर राष्ट्रीय औसत से आगे निकल चुका है। राज्यपाल एस सी जमीर ने ओडिशा की राजधानी में महात्मा गांधी रोड पर तिरंगा झंडा फहराया। इस मौके पर रंग-बिरंगी झांकी निकाली गई जिसमें राज्य की समृद्ध संस्कृति को दर्शाया गया। वामपंथी अतिवादी संगठनों ने गणतंत्र दिवस का बहिष्कार करने की घोषणा की जिसे देखते हुए मल्कानगिरी और कोरापुट सहित माओवाद प्रभावित क्षेत्रों में सुरक्षा व्यवस्था मजबूत की गई है ।
Copyright @ 2017.