01/02/2018  वित्त मंत्री अरुण जेटली ने पेश किया 2018 का आम वजट

वही पीएम मोदी ने बजट की तारीफ करते हुए कहा, 'मैं वित्त मंत्री और उनकी टीम को ऐसा बजट प्रस्तुत करने के लिए बधाई देता हूं जो 'नए भारत' की परिकल्पना को मजबूत करने में मदद करेगा.' प्रधानमंत्री ने कहा कि बजट 'विकासोन्मुखी' है और भारत की प्रगति को गति देगादेखिए इस बजट की कुछ जानकारियां....

आयकर छूट की सीमा में कोई बदलाव नही सीमा 2.5 लाख ही रहेगी..

इस बजट में सरकार ने किसी भी व्यक्ति द्वारा 2.5 लाख रुपये से अधिक का लेनदेन करने पर स्थायी खाता संख्या व पैन नम्वर का उल्लेख अनिवार्य बनाया...

वर्ष 2018- 19 के लिये रक्षा बजट बढ़ाकर 2.82 लाख करोड़ रुपये किया गया...चालू वित्त वर्ष में यह 2.67 लाख करोड़ रुपये था.

बजट में रेलवे के लिए 1.5 लाख रुपये का आवंटन और देश में 18000 किमी.रेलवे लाईन बिछाई जाएंगी…

सौभाग्य योजना के जरिए 4 करोड़ गरीबों को बिजली कनेक्शन दिए जायेंगे..एंवम् अगले वित्त वर्ष में 2 करोड़ शौचालय बनाने का लक्ष्य..

वित्त मंत्री ने कहा, विमानपत्तन प्राधिकरण के तहत वर्तमान में 124 हवाईअड्डे हैं.. देश के हवाईअड्डों की यात्री वहन क्षमता को पांच गुना तक बढ़ाया जाएगा…

बजट में राष्ट्रपति, उप-राष्ट्रपति, राज्यपालों की सैलरी बढ़ाकर पांच लाख, चार लाख और साढ़े तीन लाख रुपये प्रतिमाह की गईं..

सांसदों के वेतन, भत्ते तय करने के नियमों में बदलाव होगा, मुद्रास्फीति से जुड़ेगे, हर पांच साल में स्वत: संशोधन का नियम बनेगा…

वित्त मंत्री ने कहा, किसानों को उनकी फसल का उचित मूल्य दिलाने की पुख्ता व्यवस्था होगी..

हर कारपोरेट कंपनी के पास भी आधार की ही तर्ज पर एक नम्वर दिया जाएगा…

Copyright @ 2017.