26/02/2018  ई-गवर्नेंस पर 21वां राष्ट्रीय सम्मेलन कल से हैदराबाद में आरंभ होगा

भारत सरकार का प्रशासनिक सुधार एवं लोक शिकायत विभाग (डीएआरपीजी), इलेक्ट्रॉनिक्स एवं सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय एवं तेलंगाना सरकार के साथ मिल कर तेलंगाना के हैदराबाद में 26-27 फरवरी, 2018 को ई-गवर्नेंस पर 21वें राष्ट्रीय सम्मेलन का आयोजन कर रहा है। केंद्रीय विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी तथा पृथ्वी विज्ञान राज्य मंत्री श्री वाई.एस.चौधरी सम्मेलन के उद्घाटन सत्र की अध्यक्षता करेंगे एवं तेलंगाना सरकार के आईटी, नगरपालिका प्रशासन एवं शहरी विकास, उद्योग एवं वाणिज्य, लोक उपक्रम, चीनी, खनन एवं भूगर्भ, एनआरआई मंत्र काल्वकुंतल तरक रामा राव उद्घाटन सत्र में मुख्य अतिथि होंगे। केंद्रीय उपभोक्ता मामले, खाद्य एवं जन वितरण तथा वाणिज्य एवं उद्योग राज्य मंत्री श्री सी आर चौधरी के जनसमूह को संबोधित करने की उम्मीद है। तेलंगाना सरकार के मुख्य सचिव शैलेंद्र कुमार जोशी उद्घाटन सत्र को संबोधित करेंगे। प्रशासनिक सुधार एवं लोक शिकायत विभाग के सचिव श्री के वी इयापेन उद्घाटन भाषण देंगे जबकि यूआईडीएआई के मुख्य कार्यकारी अधिकारी श्री अजय भूषण पांडेय मुख्य भाषण देंगे। इलेक्ट्रॉनिक्स एवं सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय में सचिव श्री अजय प्रकाश साहनी सत्र के एक अन्य महत्वपूर्ण वक्ता होंगे। इस वर्ष के सम्मेलन की थीम है, ‘त्वरित विकास के लिए प्रौद्योगिकी‘। पहले दिन उद्घाटन सत्र के बाद उपयोगकर्ता अनुभव का निर्माण, सार्वभौमीकरण एवं प्रतिकृति, ई-गवर्नेंस का प्रशासन विषयों के आधार पर 3 पूर्ण सत्रों का आयोजन किया जाएगा जबकि दूसरे दिन ई-गवर्नेंस अच्छे एवं बुरे प्रचलन, उभरती प्रौद्योगिकियों के आधार पर 2 पूर्ण सत्रों का आयोजन किया जाएगा। पूर्वोत्तर क्षेत्र विकास राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार), प्रधानमंत्री कार्यालय, कार्मिक, जोक शिकायत एवं पेंशन, परमाणु ऊर्जा विभाग एवं अंतरिक्ष विभाग राज्य मंत्री डॉ. जितेंद्र सिंह मंगलवार, 27 फरवरी को ई-गवर्नेंस के विभिन्न पहलुओं से संबंधित आठ वर्गों में राष्ट्रीय ई-गवर्नेंस पुरस्कार प्रदान करेंगे। यह सम्मेलन एक ऐसे मंच का कार्य करता है जिसमें प्रशासनिक सुधारों के सचिव, राज्य सरकारों के सूचना प्रौद्योगिकी के सचिव, केंद्र सरकार के आईटी प्रबंधक, सॉफ्टवेयर सॉल्यूशन प्रदाता, उद्योग आदि भाग लेते हैं, आपस में बातचीत करते हैं, विचारों का आदान प्रदान करते हैं, संबंधित मुद्वों, समस्याओं पर चर्चा करते हैं और विभिन्न सॉल्यूशन संरचनाओं का विश्लेषण करते हैं।

Copyright @ 2017.