11/09/2018  पेट्रोल, डीजल व रसोई गैस की कीमतों तथा बढ़ती मंहगाई को लेकर बुलाए गए भारत बंद पर अजय माकन ने क्या कहा...

दिल्ली प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष अजय माकन ने  पेट्रोलडीजल व रसोई गैस की कीमतों तथा बढ़ती मंहगाई को लेकर बुलाए गए भारत बंद के अवसर पर दिल्ली में पेट्रोल पम्पनजदीक सिद्धार्थ होटल पूसा रोड़ पर कांग्रेस कार्यकर्ताओं को सम्बोधित करते हुए कहा कि केन्द्र की भाजपा व दिल्ली की आम आदमी पार्टी की सरकार ने पेट्रोल व डीजल पर एक्साईज ड्यूटी व वेट इतनी बढ़ा दी है कि दोनो लोगों की पहुच से बाहर हो गए है।

 पेट्रोल व डीजल के दामों में बेहताशा बढ़ौत्तरी के खिलाफ भारत बंद के आव्हान पर दिल्ली प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष अजय माकन के नेतृत्व में पूरी दिल्ली के 280 ब्लाकों के अन्तर्गत आने वाले पेट्रोल पम्पों पर विरोध प्रदर्शन किया। जिसमें न सिर्फ कांग्रेस के कार्यकर्ताओं ने भाग लिया बल्कि आम जनता ने भी भाजपा की केन्द्र सरकार व आप पार्टी की दिल्ली सरकार के खिलाफ इस मुहिम का मुखर होकर समर्थन किया। कांग्रेस कार्यकर्ताओं  ने दुकानदारों से शांति पूर्ण तरीके से बंद के लिए समर्थन कियाजिसका व्यापारी वर्ग,दुकानदार व आम जनता ने समर्थन किया।माकन ने कहा कि कांग्रेस की यूपीए सरकार के समय में  पेट्रोल पर मई 2014 में एक्साईज ड्यूटी 9.20 रुपये प्रति लीटर थी जबकि आज मोदी सरकार ने इसको बढ़ाकर 19.48रुपये प्रति लीटर कर दिया है। अर्थात पेट्रोल पर एक्साईज की 211.7% की वृद्धि कर डाली। माकन ने कहा कि इसी प्रकार मई 2014 में जहां डीजल पर एक्साईज ड्यूटी 3.46रुपये प्रति लीटर थी वह मोदी सरकार ने बढ़ाकर 15.33 रुपये प्रति लीटर कर दी हैअर्थात डीजल पर एक्साईज ड्यूटी में 443.06% की वृद्धि कर दी है।  माकन ने कहा कि पेट्रोल व डीजल पर भारी टैक्स लगाए जाने के कारण रसोई गैस के दाम भी लगभग दोगुने हो गए है। उन्होंने कहा कि जो रसोई गैस कांग्रेस की यूपीए सरकार के समय में 400 रुपये प्रति सिलेंडर मिलती थी वह प्रति सिलेंडर 754 रुपये हो गई है। माकन ने कहा कि मोदी सरकार ने अपने साढ़े चार साल के कार्यकाल में पेट्रोल व डीजल पर बेहताशा टैक्स लगाकर 11 लाख करोड़ रुपया कमाया है। जबकि लोगों पर मंहगाई का बोझ बढ़ता जा रहा है। क्योंकि उन्होंने केन्द्रीय एक्साईज ड्यूटी में ही अपने कार्यकाल में 12 बार वृद्धि की है.. माकन ने कहा कि मोदी की केन्द्र सरकार व आप पार्टी की दिल्ली सरकार के समय में मंहगाई आज आसमान छू रही है और न सिर्फ गरीब बल्कि मध्यम वर्ग को भी दो वक्त की रोटी के लिए संघर्ष करना पड़ रहा है। जबकि दोनो सरकारों ने मंहगाई कम करने का वायदा किया था। माकन ने पेट्रोल व डीजल के दामों में बेहताशा वृद्धि के लिए जहां मोदी की केन्द्र सरकार को जिम्मेदार ठहराया है वही आम आदमी पार्टी की केजरीवाल सरकार को भी पेट्रोल व डीजल के दामों में बढ़ौतरी के लिए जिम्मेदार ठहराते हुए कहा कि दिल्ली में कांग्रेस की सरकार के समय जहां डीजल पर वेट की दर 12.5 प्रतिशत थी वह बढ़ाकर 17 प्रतिशत कर दी और इसी प्रकार कांग्रेस के समय में जहां पेट्रोल पर वेट की दरें 20 प्रतिशत थीवे बढ़ाकर 27 प्रतिशत कर दी। माकन ने कहा कि यदि मोदी की केन्द्र सरकार और केजरीवाल की दिल्ली सरकार पेट्रोल व डीजल पर बढ़ी हुई एक्साईज व वेट की दरें तुरंत प्रभाव से कम कर देतो दिल्ली में पेट्रोल व डीजल की कीमते 45 रुपये से उपर नही होंगी।प्रदर्शन में प्रदेश अध्यक्ष अजय माकन के साथ पूर्व सांसद सज्जन कुमार, महाबल मिश्रादिल्ली सरकार के पूर्व मंत्री किरण वालिया के साथ कई कांग्रेस के बरिष्ठ नेता भी शामिल रहे...

समाचार वार्ता के लिए अनमोल कुमार की रिपोर्ट....

Copyright @ 2017.