26/09/2018  सुप्रीम कोर्ट का फैसला खाता खुलवाने और सिम कार्ड लेने के लिए अनिवार्य नही आधार कार्ड,वहीं कुछ कार्यों में अनिवार्य..

आधार कार्ड की मान्यता और अनिवार्यता पर देश में काफी लंबे समय से चर्चा चल रही है...वही सर्वोच्च अदालत ने 26 सितंबर 2018 को इस पर अपना निर्णय भी सुनाया. पांच जजों की बेंच ने आधार कार्ड को कुछ शर्तों के साथ संवैधानिक करार दे दिया..सुप्रीम कोर्ट ने कहा है कि आधार कार्ड संवैधानिक है, लेकिन कहीं पर भी इसे अनिवार्य नहीं किया जा सकता है..और वहीं आधार कार्ड को एक पहचान के तौर पर इस्तेमाल किया जा सकता है ...मोबाइल नंबर लेने, बैक खाता खुलवाने के लिए अब आधार कार्ड का होना अनिवार्य नहीं है. अगर किसी के पास आधार कार्ड नहीं है, तो वह भी खाता खुलवा सकता है..और वहीं अब 6 से 14 साल के बच्चों के एडमिशन के लिए स्कूल आधार कार्ड की मांग नहीं कर सकते हैं...और निजी कंपनियां आधार कार्ड को लेकर अपनी मनमानी नहीं कर सकती हैं. सुप्रीम कोर्ट ने आधार एक्ट के धारा 57 को समाप्त कर दिया है... यानी अब पेटीएम, निजी बैंक जैसी कंपनियां आधार की अनिवार्य मांग नहीं कर सकती हैं...परन्तु आयकर रिटर्न भरने,पेन कार्ड बनबाने और सरकारी योजनाओं का लाभ लेने के लिए अभी भी आधार कार्ड जरुरी होगा..

समाचार वार्ता के लिए अनमोल कुमार की रिपोर्ट..

Copyright @ 2017.