विशेष (02/11/2018) 
धनतेरस पर मां लक्ष्मी और कुबेर को कैसे प्रसन्न करें- मदन गुप्ता सपाटू
नई दिल्ली,[अनमोल कुमार]- धनतेरस का पर्व हर साल दीपावली से दो दिन पहले मनाया जाता है. कार्तिक मास की तेरस यानी कि 13वें दिन धनतेरस मनाया जाता है..क्षीर सागर के मंथन के दौरान धनतेरस के दिन ही माता लक्ष्‍मी और भगवान कुबेर प्रकट हुए थे. यह भी कहा जाता है कि इसी दिन आयुर्वेद के देवता भगवान धन्‍वंतरि का जन्‍म हुआ था. यही वजह है कि इस दिन माता लक्ष्‍मीभगवान कुबेर और भगवान धन्‍वंतरि की पूजा का विधान है. इसके अलावा धनतेरस के दिन मृत्‍यु के देवता यमराज की पूजा भी की जाती है. इस दिन सोने-चांदी के आभूषण और बर्तन खरीदना शुभ माना जाता है. धनतेरस दीपावली पर्व की शुरुआत का प्रतीक भी है. धनतेरस की सुबह जल्दी उठकर स्नान आदि कामों से निपट कर किसी लक्ष्मी मंदिर में जाएं और मां लक्ष्मी को कमल के फूल अर्पित करें और सफेद रंग की मिठाई का भोग लगाएं। ये सबसे अचूक उपाय है।

Copyright @ 2019.