अन्तरराष्ट्रीय (17/12/2018) 
दिल्ली भाजपा महिला मोर्चा की ओर से हुंकार रैली का किया गया आयोजन

नई दिल्ली,[अनमोल कुमार]- दिल्ली भाजपा प्रदेश अध्यक्ष मनोज तिवारी के नेतृत्व में दिल्ली भाजपा महिला मोर्चा की ओर से दिल्ली के ऐतिहासिक रामलीला मैदान में महिला हुंकार रैली का आयोजन किया गया। पूरी दिल्ली से महिलाओ का एक बड़ा जन सैलाब महिला हुंकार रैली में दिखा..वही बीजेपी के नेताओं ने कहां कि इस रैली का प्रमुख उद्देश्य दिल्ली सरकार को जगाने व महिलाओं पर उनके मंत्रियों एंव नेताओं की अभद्र टिप्पणी और महिलाओं की सुरक्षा के प्रति दिल्ली सरकार की अनदेखी को लेकर व केजरीवाल सरकार की महिला विरोधी सोच को जनता के बीच उजागर करने और 2019 में नरेन्द्र मोदी को पुनः प्रधानमंत्री बनाने के संकल्प के साथ दिल्ली भाजपा की महिलाओं का शंखनाद हुंकार के रूप में रामलीला मैदान में किया गया है.. इस हुंकार रैली में केन्द्रीय मंत्री स्मृति ईरानी, भाजपा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष श्याम जाजू, राष्ट्रीय महामंत्री डॉ. अनिल जैन, दिल्ली भाजपा अध्यक्ष मनोज तिवारी, राष्ट्रीय महिला मोर्चा अध्यक्ष विजया रहाटकर, केन्द्रीय मंत्री विजय गोयल, दिल्ली भाजपा पूर्व अध्यक्ष सतीश उपाध्याय, दिल्ली भाजपा महिला मोर्चा अध्यक्ष पूनम पाराशर झा, सांसद महेश गिरी, सहित भाजपा के वरिष्ठ नेता व कार्यकर्ता उपस्थिति रहे। केन्द्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने कहा कि आज इस मंच से गौरव का अनुभव होता है जब दिल्ली महिला मोर्चा की बहनें ऐतिहासिक रामलीला मैदान में 2019 में प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी को पुनः प्रधानमंत्री बनाने का संकल्प लेती है। गौरव के ये पल ऐतिहासिक है क्योकि महिला मोर्चा में सेवा देना का सौभाग्य मुझे प्राप्त है। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने विकास की एक नई परिभाषा गढ़ दी है जिसमें महिला सशक्तीकरण के लिए जननी सुरक्षा योजना, शिशु पोषण योजना, बेटी-बचाओं बेटी पढ़ाओं, समृद्धि योजना और उज्जवला योजना के तहत 12 हजार 800 करोड़ की राशि का आंबटन महिलाओं को धुंए भरी जिन्दगी से छुटकारा दिलाने के लिए किया है। उज्वला योजन के तहत गेस कनेक्शन आंबटन की संख्या लगभग 13.5 करोड़ है जिसमें साढ़े पांच करोड़ महिलाओं को दे दिये गये है और साढ़े आठ करोड़ गेस कन्केशन दिये जा रहे है स्मृति ईरानी ने आगे कहा कि 2012  में गुजरात महिला मोर्चा की बहनों ने संकल्प लिया था कि 2014 में भाई नरेन्द्र मोदी को प्रधानमंत्री बनाना है और उसी प्रकार आज दिल्ली के ऐतिहासिक रामलीला मैदान में दिल्ली की बहनों ने पुनः देश की बागडोर श्री नरेन्द्र मोदी को देने का संकल्प लिया है तो  इसमें कोई संदेह नहीं की 2019 में फिर से प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ही होगें। महिला शक्ति का उल्लेख करते हुये श्याम जाजू ने कहा कि आज प्रत्येक घर में महिलाओं की भागीदारी को कोई भी नकार नहीं सकता। महिला, मां, बहन और पत्नी के रूप में पुरूष के सर्वागिण विकास के लिए अपना सर्वस्व लूटा देती है। महिलाओं के सम्मान के प्रति भाजपा प्रतिबद्ध है और प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी महिलाओं के सम्पूर्ण विकास के लिए कार्य कर रहे है। उज्वला योजना, बेटी बचाओं बेटी पढ़ाओं योजना, स्वच्छ भारत मिशन के तहत शौचालय निर्माण, महिला समृद्धि योजना, जन-धन योजना और शिशु पोषण योजना के माध्यम से महिलाओं को सशक्त करने का कार्य नरेन्द्र मोदी की सरकार कर रही है।वहीं मनोज तिवारी ने आम आदमी पार्टी और मुख्यमंत्री केजरीवाल पर हमला करते हुए कहा कि आम आदमी पार्टी की सरकार के दौरान महिलाएं असुरक्षित और बेटियां बीमार हैं। महिलाओं की सुरक्षा के लिए केजरीवाल ने चुनाव में जितने भी वायदे किये थे सत्ता में आने के बाद उनमें से एक भी पूरा नहीं किया। केजरीवाल सरकार ने कहा था महिलाओं की सुरक्षा के लिए बसों में मार्शल नियुक्त कियें जायेगें तथा सीसीटीवी लगाये जायेगें जो केवल हवा-हवाई बन कर रह गये क्योंकि मुख्यमंत्री दिल्ली की महिलाओं को मार्शल तो दूर बसों की पूरी संख्या भी देने में असमर्थ रहे। केजरीवाल सरकार की महिलाओं के प्रति सोच का प्रमाण किसी से भी छुपा नहीं है। महिला पत्रकार पर आम आदमी पार्टी के विधायक सोमनाथ भारती का अपशब्द कहना और केजरीवाल की चुप्पी, राशन कार्ड बनवाने गई महिला के साथ पूर्व मंत्री संदीप कुमार द्वारा बलात्कार, दिल्ली में भूख से तीन बच्चियों का तड़पकर दम तोड़ देना और ये सब उप-मुख्यमंत्री मनीष सिसौदिया के विधानसभा क्षेत्र में घटित होना, दिल्ली सरकार के आश्रय गृह संस्कार से नौ बेटियों का गायब होना, सोनी मिश्रा को केजरीवाल द्वारा आत्महत्या के लिये मजबूर करना, संतोष कोली के परिवार के लोगों द्वारा केजरीवाल पर संतोष कोली की हत्या का आरोप लगना और उस पर केजरीवाल की चुप्पी उनके महिला विरोधी चरित्र दिल्ली की जनता को दर्शाती है।वही तिवारी ने राफेल डील के मुद्दे पर राहुल गांधी को भी घेरा और कहा सुप्रीम कोर्ट ने कांग्रेस के अध्यक्ष राहुल गाँधी के झूठ का पर्दाफाश करते हुये राफेल पर अपना फैसला सुनाया है। कांग्रेस ने सत्ता में रहते हुये कभी भी महिलाओं के प्रति कोई भी ऐसा कार्य नहीं किया जिससे वह सम्मान के साथ आगे बढ़ सकें। निर्भया जैसी दर्दनाक एंव भयानक घटना कांग्रेस के कार्यकाल में घटी।

 

 

Copyright @ 2019.