08/01/2019  खूंखार कैदी रात में छीन लेते हैं कमजोर कैदियों से कंबल

नई दिल्ली।(साहिल भांबरी)- तिहाड़ जेल में कुछ कैदी ऐसे हैं जो हर रात ठंड में ठिठुरने को मजबूर हो रहे हैं। जी हा, तिहाड़ जेल में कुछ खूंखार कैदि कमजोर कैदियों से कंबलों को छिन कर अपने उपर ओढ़ने के लिए छिन लेते है. ऐसे में जहां खतरनाक और दबंग कैदी चार से छह कबंलों का गद्दा बनाकर सोते हैं, वहीं ये कमजोर और छोटे-मोटे जुर्म में जेल की सलाखों के पीछे पहुंचे कैदियों को दो से तीन कंबल ही ओढ़ने और बिछाने के लिए मिल पाते हैं। 

 

बताया जाता है कि इस तरह की शिकायतें मिलने के बाद हाल में तिहाड़ जेल हेडक्वॉर्टर द्वारा तिहाड़, मंडोली और रोहिणी जेलों में बंद 15 हजार से अधिक तमाम कैदियों को दिए जाने वाले कंबलों का रिव्यू कराया गया। इसमें से कितने ही कैदी ऐसे थे जिनके पास 10 से भी ज्यादा कंबल मिले जबकि कितने ही कमजोर कैदी ऐसे मिले, जिनके पास एक से दो कंबल ही थे। ऐसे में इन कैदियों का दिन तो किसी तरह से कट जाता है लेकिन फर्श पर सोने से दो-चार कंबल पर्याप्त नहीं होते और ये कैदी सारी रात ठंड में सिकुड़ते रहते हैं। 


सूत्रों ने बताया कि असली समस्या तो रात को ही होती है। जब जेलें बंद हो जाती हैं, तब कुख्यात कैदी कमजोर कैदियों के कंबल ले लेते हैं। ऐसे में दिन निकलने पर यह कैदी जेल अधिकारियों से यह शिकायत भी नहीं कर पाते कि उनके कंबल फला गैंगस्टर और दबंग कैदी ने ले लिया था। ऐसे में यह कैदी ठंड में ही रात गुजारते हैं। जेल अधिकारियों का कहना है कि अब समय-समय पर इसका रिव्यू किया जाता रहेगा कि तमाम कैदियों को समान रूप से कंबल मिल सके। 
Copyright @ 2017.