23/01/2019  तिहाड़ जेल में किया गया प्रोजेक्ट संजीवन का उद्धघाटन।
नई दिल्ली।(साहिल भांबरी)-दिल्ली के तिहाड़ जेल के जेल नंबर-2 में कारागार तिहाड़ द्वारा नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ योग के सहयोग से तिहाड़ जेल में योगभ्यास का एक कार्यक्रम किया गया. प्रोजेक्ट संजीवन का उद्धघाटन दिल्ली के मुख्य सचिव विजय देव  तथा आयुष मंत्रालय के सचिव वैध राजेश कोटेचा द्वारा किया गया। संजीवन का अर्थ साफ हैं नया जीवन देना, ओर अच्छी तरह जीवन बिताना है। इस प्रोजेक्ट में 2 तरह के कोर्स कराए जाएंगे। कार्यक्रम के दौरान तिहाड़ जेल के महानिदेशक अजय कश्यप के अलावा आई.जी, सुप्रिटेंडेंट, समेत जेल के तमाम कैदी भी मौजूद रहे।

पहला कोर्स, सर्टिफिकेट कोर्स योगा साइंस फ़ॉर वैलनेस  द्वारा 480 घंटे यनिके 4 महीने का कोर्स हैं। जिसमे 75 पुरुष और 25 महिला बंदियों को प्रशिक्षण दिया जाएगा.दूसरा कोर्स फाउंडेशन कोर्स योगा साइंस वैलनेस (FCYScW) द्वारा प्रतिदिन 2 घंटे का कोर्स कराया जाएगा जो 1 वर्ष तक जारी रहेगा. ओर आगे के लिए इस प्रोजेक्ट की गहन समीक्षा  की जाएगी ओर उसके अनुसार आगे की तैयारियां की जाएंगी। और (FCYScW) ने ये भी कहा की हमारा उद्देश्य 1000 कैदियों को योगा टीचर बनाने का हैं.
मुख्यातिथि विजय देव ने कहा कि इन कोर्स को सफलता पूर्वक करने वाले कैदी रिहा होने के बाद गर्व से आजीविका भी कमा सकेंग. ओर ये कोर्स कैदियों के पुर्नवास में सहायता प्रदान करेंगे।
Copyright @ 2017.