अन्तरराष्ट्रीय (06/02/2019) 
कैडेटों को देश का अच्छा नागरिक बनाने में एनसीसी की अहम भूमिकाः ब्रिगेडियर सलिल शर्मा
दिल्ली विश्वविद्यालय के किरोड़ीमल कॉलेज में पिछले तीन दिनों से चल रहा अखिल भारतीय एनसीसी महोत्सव संपन्न हो गया है। महोत्सव के आखिरी दिन विजेता कैडेटों को पुरस्कृत किया गया। इस मौके पर मुख्यअतिथि के रूप में दिल्ली निदेशालय के बी ग्रुप  कमानडर ब्रिगेडियर सलिल शर्मा, विशिष्ट अतिथि के रूप में दिल्ली हाई कोर्ट के वरिष्ठ अधिवक्ता एस के शर्मा, एनसीसी एलुमनी क्लब ऑफ दिल्ली के अध्यक्ष गिरीश निशाना और शहीद एएस दलाल की पत्नी अल्का दलाल मुख्य रूप से मौजूद थे। महोत्सव में छात्र कैडेटों में अंबेडकर कॉलेज के जेयूओ अक्षय कुमार गौतम तो वहीं छात्रा कैडेटों में भी अंबेडकर कॉलेज की ही कैडेट आंचल सैनी ने सर्वश्रेष्ठ कैडेट पुरस्कार प्राप्त किया। स्कूल स्तर पर छात्र कैडेटों में सी ब्लॉक दिलशाद गार्डन स्कूल के तुषार तो वहीं छात्रा कैडेटों में सेंट जेवियर स्कूल की मिरनालिनी सिंह विजेता बनीं। सांस्कृतिक कार्यक्रमों में सामूहिक नृत्य में अलमोड़ा का एसएसजे कैंपस जहां विजेता बना तो वहीं एकल नृत्य में मोतीलाल नेहरू कॉलेज के देव मिश्रा ने प्रथम पुरस्कार प्राप्त किया। शहीद आज़ाद सिंह मेमोरियल वाद-विवाद प्रतियोगिता में आईपी कॉलेज की अंबिका विजेता बनीं। 
कैडेटों को संबोधित करते हुए ब्रिगेडियर सलिल शर्मा ने केएमसी में बिताए अपने दिनों को याद किया। उन्होंने कैडेटों के प्रदर्शन की सराहना करते हुए कहा कि एनसीसी कैडेटों को देश का अच्छा नागरिक बनाने में अपनी अहम भूमिका निभा रही है। इस मौके पर क़लेज प्राचार्या डॉ. विभा सिंह चौहान, मेजर डॉ. एस के कौशिक, डॉ. लेफ्टिनेंट डॉ. रक्षा शर्मा, मेजर जेम्स क्रिस्टोफर, मेजर उमेश कुमार, लेफ्टिनेंट लक्खा सिंह, डॉ, विनोद कुमार, पूर्व एसयूओ गुलशन कौशिक, एनसीसी एलुमनी क्लब ऑफ दिल्ली के अध्यक्ष गिरीश निशाना, वरिष्ठ अधिवक्ता एस के शर्मा, विनय प्रजापति, रोबिन, रोमियो, दुर्गेश निषाद, कविता वर्मा, जीसीआई नीवा सिंह सहित काफी संख्या में कैडेट मौजूद थे।     

गौरतलब है कि इस महोत्सव में कर्नाटक और गोवा निदेशालय, पंजाब, हरियाणा, हिमाचल प्रदेश और चंडीगढ़ निदेशालय, राजस्थान निदेशालय, उत्तराखंड निदेशालय, उत्तर प्रदेश निदेशालय और दिल्ली निदेशालय के काफी संख्या में कैडेट हिस्सा लिया। महात्मा गांधी की 150वीं जयंती के मौके पर महोत्सव में गांधीजी से जुड़ी कई प्रतियोगिताएं आयोजित की गईं। इसके अलावा कैडेटों ने आर्मी एक्शन का भी बेहतर नमुना पेश किया। जिसमें कैडेटों ने रणभूमि में सेना की जांबाज़ी के कारनामे दिखाए।
Copyright @ 2019.