राष्ट्रीय (08/03/2019) 
गांव अरांईपुरा में दिखा बेटी बचाओ बेटी पढाओ का असर- मिलेंगे डेढ लाख रुपये।
लड़को की तुलना में लड़कियों की सर्वाधिक संख्या के अनुपात में गांव अरांईपुरा बना आदर्श गांव, सरकार से मिलेगा डेढ लाख रूपये का ईनाम - उप सिविल सर्जन डॉ0राजेन्द्र कुमार ने दी जानकारी  ।  

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा चलाई गई मोहिम बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ का असर पर हरियाणा में दिखने लगा है ,लिंगानुपात में सुधार लाने की दिशा में घरौंडा ब्लाक के गांव अरांईपुरा ने जिले के दूसरे गांवों को राह दिखाई है। खास बात यह है कि 1 जनवरी 2018 से 31 दिसम्बर 2018 तक की अवधि में इस गांव में 1000 लड़को के पीछे  लडकियों का अनुपात 1800 रहा है जोकि एक रिकार्ड है। सेक्स रेशो को लेकर इस बड़ी उपलब्धि के लिए गांव अरांईपुरा को हरियाणा सरकार की और से 1 लाख 50 हजार रूपए की राशि का ईनाम दिया जाएगा। विशेष बात यह है कि यह ईनाम राशि 10 वीं कक्षा में प्रथम ,द्वितीय व तृतीय स्थान हासिल करने वाली गांव की लड़कियों को वितरित की जाएगी। 

यह जानकारी देते हुए उप सिविल सर्जन डॉ0राजेन्द्र कुमार ने बताया कि करनाल जिला में बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ अभियान के सफल क्रियान्वयन के तहत लिंगानुपात में निरन्तर सुधार हो रहा  है और इसे आगे भी जारी रखा जाएगा ताकि लिंगानुपात में संतुलन बना रहे। उन्होंने कहा कि जिला में पीएनडीटी एक्ट को सख्ती से लागू किया जा रहा है,जिसके तहत अल्ट्रासांऊड केन्द्रों पर भी कड़ी नजर रख रहे हैं, ताकि कन्या भ्रुण हत्या जैसी सामाजिक बुराई पर पूर्णत: रोक लगाई जा सके। बता दें कि सिविल सर्जन ने लिंगानुपात में और सुधार लाने को लेकर डिप्टी सिविल सर्जन डॉ0राजेन्द्र कुमार को नोडल अधिकारी बनाया है। 
घरौंडा से सुरेन्द्र पांचाल की रिपोर्ट
Copyright @ 2019.