अन्तरराष्ट्रीय (14/04/2019) 
व्यापारी चुनावों में किस दल का समर्थन करेंगे इसका निर्णय 17 अप्रैल को दिल्ली में होगा

कॉन्फ़ेडरेशन ऑफ़ आल इंडिया ट्रेडर्स (कैटद्वारा इन चुनावों में दिल्ली सहित देश भर के व्यापारियों द्वारा बेहद निर्णायक भूमिका निभाने के सन्दर्भ में कैट की राष्ट्रीय कोर कमेटी आगामी 17 अप्रैल को अपनी नई दिल्ली में होने वाली बैठकमें तय करेगी की इन चुनावों में देश भर के व्यापारी एक वोट बैंक के रूप में किस दल का समर्थन करेंगे और वोट देंगे ! देश के विभिन्न राज्यों में 195 लोकसभा सीटें हैं जिन पर व्यापारियों की बहुतायत है और व्यापारी परिणाम को प्रभावितकरने की क्षमता रखते हैं ! देश भर में लगभग 7 करोड़ व्यापारी हैं जो लगभग 30 करोड़ लोगों को रोज़गार देते हैं 

 

कैट के राष्ट्रीय महामंत्री श्री प्रवीन खंडेलवाल ने प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी द्वारा आगामी 19 अप्रैल को दिल्ली के तालकटोरा स्टेडियम में व्यापारियों को सम्बोधित करने की घोषणा का स्वागत करते हुए कहा की व्यापारियों से सार्थक संवादकरने की दिशा में प्रधानमंत्री का यह बड़ा सकारात्मक कदम है ! श्री खंडेलवाल ने कहा की में देश भर में 40 हजार से ज्यादा व्यापारी संगठन चुनाव में सक्रीय भूमिका निबाहेंगे और कैट के चुनाव सन्देश को  देश के कोने कोने में व्यापारियोंतक पहुचायेंगे !

 

श्री खंडेलवाल ने कहा की पिछले तीन महीनों से अधिक समय से कैट व्यापारियों को एक वोट बैंक में तब्दील करने के लिए एक राष्ट्रीय अभियान चला रहा है जिसको तेजी से सफलता मिल रही है !दिल्ली सहित देश भर में  व्यापारी रोज़अलग अलग बैठकें कर सभी व्यापारियों को एकजुट कर एक वोट बैंक बनाने में तेजी से काम कर रहे हैं जिससे चुनावों में व्यापारी एक बड़ी और निर्णायक भूमिका निभा सकें ! व्यापारियों के साथ साथ कैट के सदस्य व्यापारियों केकर्मचारियों को भी इस अभियान में अपने साथ जोड़कर एक बड़ा वोट बैंक खड़ा कर रहे हैं जिसकी अनदेखी करना किसी भी दल के लिए महंगा साबित हो सकता है ! दिल्ली भर में कैट द्वारा इस अभियान को बेहद तेजी के साथ चलाया जारहे और इस सिलसिले में अब तक दिल्ली के विभिन्न बाज़ारों में 100 से अधिक व्यापारी बैठकें हो चुकी हैं ! कैट को दिल्ली में लगभग  2500 से अधिक व्यापारी संगठनों का समर्थन प्राप्त है जो दिल्ली भर में लगभग 19 लाख व्यापारियोंका प्रतिनिधित्व करते हैं !

 

कैट के राष्ट्रीय महामंत्री श्री प्रवीन

Copyright @ 2019.