राष्ट्रीय (03/05/2019) 
क्या केजरीवाल अपने विधायकों को बिकाऊ समझते हैं ?-विजय गोयल

नई दिल्ली, 3 मई। गांधी नगर से आम आदमी पार्टी के विधायक  अनिल वाजपेयी आज अपने समर्थकों से साथ भारतीय जनता पार्टी मंे शामिल हुये। राष्ट्रीय उपाध्यक्ष एवं दिल्ली प्रभारी  श्याम जाजू, केन्द्रीय मंत्री  विजय गोयल ने भाजपा का पटका पहना कर उनका पार्टी में स्वागत किया।  अनिल वाजपेयी पूर्वी दिल्ली डीटीसी के चेयरमैन,यमुना विकास बोर्ड के उपाध्यक्ष, लोकनायक अस्पताल के चेयरमैन होने के साथ दिल्ली विधानसभा की प्रशासनिक कमेटी के भी चेयरमैन थे। पत्रकार सम्मेलन में प्रदेश महामंत्री  कुलजीत सिंह चहल,  रविन्द्र गुप्ता, विधायक  ओम प्रकाश शर्मा, मीडिया प्रमुख  अशोक गोयल देवराहा उपस्थित थे।

 

                 श्याम जाजू ने कहा कि जिस पार्टी का भविष्य होता है उसमें ही लोग आना चाहते हैं।  अनिल वाजपेयी के आने से पार्टी मजबूत हुई है। आम आदमी पार्टी के विधायक अरविन्द केजरीवाल के तानाशाह रवैया से परेशान हैं, इसलिये आने वाले समय में आम आदमी पार्टी छोड़ने वालों की लम्बी सूची है।

 

                 विजय गोयल ने केजरीवाल से सवाल पूछा कि क्या वे अपने विधायकों को बिकाऊ समझते हैं ? क्या भाजपा से उनकी पार्टी में आये नेताओं को उन्होंने कितने पैसे दिये थे, इसका खुलाशा केजरीवाल को करना चाहिये। केजरीवाल दिल्ली में भ्रष्टाचार को दूर करने का नारा लेकर आये थे, लेकिन वह खुद भ्रष्टाचार में डूब चुके हैं। उन्होंने कहा कि केजरीवाल कभी हिन्दु-मुस्लिम को आपस में लड़ाकर तुष्टिकरण की राजनीति करते हैं तो कभी गरीब झुग्गी वालों को पैसे का लालच देकर वोट खरीदने की बात कहकर आदर्श आचार संहिता की धज्जियां उड़ाते हैं। केजरीवाल साढ़े चार साल में कोई भी ऐसा काम नहीं किया जिसको लेकर वे जनता के बीच जा सकें। इसीलिये लोगों को विकास के असली मुद्दे से भटकाने के लिए लोगों में भ्रम फैला रहे हैं।  गोयल ने कहा कि केजरीवाल का राजनीतिक स्तर इतना गिर चुका है कि उनकी पूर्वी दिल्ली की उम्मीदवार आतिशी मारलीनी प्रधानमंत्री को गुंडा बताकर गुजरात भेजने की बात कहती हैं।

 

                 अनिल वाजपेयी ने कहा कि प्रधानमंत्री  नरेन्द्र मोदी की नीतियों और भाजपा संगठन से प्रभावित होकर भाजपा का अपने समर्थकों के साथ दामन धामा है। देश के प्रधानमंत्री  नरेन्द्र मोदी के मार्गदर्शन में सर्जिकल स्ट्राइक और एयर स्ट्राइक पर केजरीवाल और कांग्रेस द्वारा सवाल उठाये जाने से मैं बेहद आहत हुआ जिसके कारण भाजपा में शामिल होने का निर्णय किया है। अपने राजनीतिक जीवन के 15 साल मैंने कांग्रेस में गुजारे लेकिन जब केजरीवाल ने कांग्रेस के खिलाफ भ्रष्टाचार का मुद्दा उठाकर एक नई राजनीति की शुरूआत की तब मैंने कांग्रेस छोड़कर आम आदमी पार्टी से जुड़ा, लेकिन केजरीवाल विधायकों को टुच्चा, गधा और बेवकूफ कहते हैं इसलिये मैं उनकी नीतियों और व्यवहार से बहुत आहत था और बहुत से विधायकों का आम आदमी पार्टी में दम घुट रहा है। अल्का लाम्बा का नाम लेते हुये  वाजपेयी ने कहा कि आम आदमी पार्टी में वही विधायक रह सकते हैं जो अपने मान-सम्मान से समझौता करे। उन्होंने कहा कि अगर मेरे ऊपर एक भी रूपया लेने का आरोप कोई भी साबित कर दे तो मैं राजनीतिक जीवन से सन्यास ले लूंगा। भारतीय जनता पार्टी में शामिल होने मैं स्वयं आया।

 

                 अनिल वाजपेयी के साथ आम आदमी पार्टी के राष्ट्रीय कार्यकारिणी सदस्य एवं रघुवरपुरा वार्ड-27-ई की आम आदमी पार्टी प्रत्याशी  गौरव शर्मा, वार्ड नं.-26-ई की प्रत्याशी सु वंदना रानी, वार्ड 27-ई अध्यक्ष  संजय जैन, शाहदरा जिला यूथ विंग अध्यक्ष  दीपक चैधरी, गांधी नगर जे जे सेल के अध्यक्ष  लक्ष्मण सेठ,युवा विंग के संगठन सचिव  दीपक हिन्दुस्थानी, ग्रामीण मोर्चा शाहदरा के अध्यक्ष  अतुल चैधरी, वार्ड 27-ई संगठन मंत्री  राकेश कुमार, सचिव  अमन सूद, कोषाध्यक्ष विकास कौशिक सहित सैकड़ों लोग भाजपा में शामिल हुये।

Copyright @ 2019.