राष्ट्रीय (10/05/2019) 
पूर्वी दिल्ली मेरी कर्मभूमि जरूर रही है, लेकिन चांदनी चैक मेरी जन्मभूमि है-डाॅ. हर्ष वर्धन

नई दिल्ली, 10 मई।  चांदनी चैक संसदीय क्षेत्र के प्रत्याशी डॉ. हर्ष वर्धन ने सिंधौरा कलां गांव में आयोजित ट्विटर चैपाल के माध्यम से प्रधानमंत्री  नरेन्द्र मोदी की योजनाओं के बारे में बताते हुये लोगों के प्रश्नों का उत्तर दिया। इस चैपाल में केन्द्रीय मंत्री  सुरेश प्रभु, जिला सहित प्रदेश पदाधिकारी, जिला पदाधिकारी, निगम पार्षद एवं सिंधौरा कलां गांव के निवासी उपस्थित थे।

    इस अवसर पर ट्टिटर के माध्यम से आये सवालों का जवाब देते हुये डॉ. हर्ष वर्धन ने कहा कि इस पांच साल में दिल्ली के लिए 46 हजार करोड़ रूपयों की परियोजनाओं को पास कराया जिससे आने वाले दिनों में दिल्ली की सूरत व सीरत बदलने वाली है। लेकिन यह दिल्ली वालों का दुर्भाग्य है कि यहां पर एक ऐसा मुख्यमंत्री है जो खुद को अराजक कहलाने पर गौरवान्वित महसूस करता है। केजरीवाल ने आयुष्मान भारत को दिल्ली में रोक कर केन्द्र द्वारा लाखों गरीबों के लिए दी जाने वाली 5 लाख तक के मुफ्त ईलाज की सुविधा को रोक दिया है। आयुष्मान भारत के अन्तर्गत देश के 15 हजार अस्पताल रजिस्टर्ड है जिसमें आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग के लोगों को सहायता मिल रही है, ऐसे लोग प्रधानमंत्री  नरेन्द्र मोदी के लिए केवल एक ही धारणा रखते हैं कि मोदी जी उनके मसीहा हैं क्योंकि सबसे मुश्किल समय में प्रधानमंत्री  नरेन्द्र मोदी ने उनके परिवार के जीवन को बचाया है।


    एक सवाल के जवाब में डॉ. हर्ष वर्धन ने कहा कि मैं चाहता हूँ कि चुनाव के बाद सभी राजनीतिक दल राजनीति से ऊपर उठकर दिल्ली के लोगों की पीड़ा को समझे और उनकी समस्याओं को मिलकर हल करें। चांदनी चैक में पार्किंग व जाम की समस्यायें थीं जिसे हल करने के लिए एक दर्जन से अधिक पार्किंग साईट बनाई गई है जिसमें 8 हजार से ज्यादा व्यापारियों की गाड़ियां खड़ी हो सकती हैं। रानी झांसी रोड बनाने में काफी मशक्त करनी पड़ी, लेकिन उसके बनने से क्षेत्र में यातायात की समस्या पूरी तरह से समाप्त हो गई है जिससे मुझे बहुत संतुष्टि मिली है। 

    ट्वीटर द्वारा पूछे गये सवाल के जवाब में डॉ. हर्ष वर्धन ने कहा कि पूर्वी दिल्ली मेरी कर्मभूमि जरूर रही है, लेकिन चांदनी चैक मेरी जन्मभूमि है। चांदनी चैक के लोगों ने पिछले पांच साल में चांदनी चैक में जो प्यार मुझे मिला वह 50 सालों में नहीं मिला। जीवन का शेष समय चांदनी चैक संसदीय क्षेत्र के लोगों की सेवा में लगा दूंगा। दुनिया के इतिहास में ऐसी कोई घटना नहीं मिलती जहां एक मुख्यमंत्री अपनी मौजूदगी में अपनी ही सरकार के मुख्य सचिव की अपने ही विधायक से पिटाई करवा दंे। साढ़े चार सालों में केजरीवाल ने प्रधानमंत्री के लिए अमर्यादित भाषा का प्रयोग करते रहे जिसकी वजह से क्षेत्र का विकास नहीं हुआ है। दिल्ली की जनता अगामी 12 मई को कमल का बटन दबायेगी और भाजपा के सातों उम्मीदवारों को जिता कर प्रधानमंत्री  नरेन्द्र मोदी को पूर्ण बहुमत की मजबूत सरकार देगी।

Copyright @ 2019.