राष्ट्रीय (24/06/2019) 
आईआईआईटी, दिल्ली और दिल्ली पुलिस के बीच एमओयू।
आईआईआईटी, दिल्ली  में सेंट्रर फॅार टैक्नोलोजी एंड पुलिसिंग की स्थापना हेतु आईआईआईटी, दिल्ली  के पंजीयक और  अतिरिक्त आयुक्त, साइबर और तकनीक,दिल्ली पुलिस के बीच एक एमओयू पर हस्ताक्षर किये गये।

इस शुरूआत से दिल्ली पुलिस को तकनीकी विकास में सहायता मिलेगी ओर वह अपराधों के नियंत्रण में विशेषकर साइबर अपराध में अपना कर्तव्य अधिक क्षमता से निर्वहन करेगें। उपराज्यपाल अनिल बैजल की उपस्थिति  में आज राजनिवास में आईआईआईटी, दिल्ली  में सेंट्रर फॅार टैक्नोलोजी एंड पुलिसिंग की स्थापना हेतु आईआईआईटी, दिल्ली  के पंजीयक और  अतिरिक्त आयुक्त, साइबर और तकनीक,दिल्ली पुलिस के बीच एक एमओयू पर हस्ताक्षर किये गये। इस अवसर पर दिल्ली पुलिस आयुक्त एवं आईआईआईटी दिल्ली  के निदेशक भी उपस्थित थे।

सेंटर आफ टैक्नोलोजी निम्नलिखित में दिल्ली पुलिस की सहायता करेगा ।

अपराध, कानून व्यवस्था बनाये रखने में मद्द, यातायात प्रबंधन, प्रशासन, खुफिया जानकारी, और नागरिक सेवा जांच में सही तकनीकी की पहचान करने  में मद्द करेगा।

ऐसी तकनीक पर कार्य किया जायेगा जोकि विभिन्न हित धारकों द्वारा अपनाई  जा सके।

क्षमता निर्माण और कौशल को बढाने के लिए विभिन्न तकनीकी समाधानों को शामिल करना।

पुलिसिंग और तकनीक के उपयोग के लिए नीतियों और दिशा निर्देशों और मानक संचालन प्रक्रिया को तैयार करने मे मद्द करेगा।

उपराज्यपाल ने  दिल्ली पुलिस और आईआईआईटी, दिल्ली पुलिस को शुभकामना देते हुए कहा कि तकनीक के युग में पुलिस को अपराध नियंत्रण के लिए तकनीक आधारित उपकरणों से लैस होना चाहिए। इंजीनियरिंग और तकनीकर्, आटिफिशियल इंटलीजेंस और मौजूदा संचार प्रणाली में सुधार पुलिस की दक्षता और प्रभावशीलता को बढ़ाने में मद्द करेगा।

उपराज्यपाल को बताया गया कि दिल्ली पुलिस  लगातार अपनी क्षमताओं को आधुनिक बनाने एवं नई तकनीक को अपनाने, स्टेट- आफ-आर्ट तकनीक की संभावनाओं को तलाशने और उन्नत तकनीक के द्वारा  अपराध का प्रबंधन, कानून व्यवस्था प्रबंधन, यातायात प्रबंधन, खुफिया जानकारी इक्ट्ठा करना, आतंकी गतिविधियों से लडना और नागरिक सेवाएं प्रदान करने इत्यादि में  लगी हुई है।

उपराज्यपाल ने कहा कि बढ़ती हुई तकनीक के साथ तालमेल रखने के लिए रिसर्च ओरगेनाईजेशन, इंजिनियरिंग, तकनीक, कानून और पब्लिक पोलिसी जैसे विशेष क्षेत्रों में काम करने वाले अनुसंधान संगठनों, विश्वविद्यालय और निजी संगठनों के विभिन्न हित धारकों को शामिल करना आवश्यक हो गया है।

आईआईआईटी, दिल्ली  अकादिमक उत्कृष्टता और अनुसंधान  के क्षेत्र में एक प्रमुख और तेजी से बढ़ता हुआ संस्थान है। इस संस्थान ने गुणावत्तापूर्ण शिक्षा और अनुंसधान का केन्द्र होने की वजह से भारत और विदेशों में भी एक सराहनीय प्रतिष्ठा अर्जित की है। यह समन्वय दिल्ली पुलिस और  आईआईआईटी, दिल्ली की क्षमताओं को बढाने  में मद्द करेगा।
Copyright @ 2019.