राष्ट्रीय (27/06/2019) 
हरियाणा प्रदेश कांग्रेस के प्रवक्ता विकास चौधरी की हत्या निन्दनीय
भिवानी, 27 जून। हरियाणा प्रदेश कांग्रेस के प्रवक्ता विकास चौधरी की फरीदाबाद में गोली मार कर की गई हत्या एक निन्दनीय, शर्मनाक और दु:खद घटना है। अपराधियों द्वारा दिनदहाड़ें अंजाम दी गई इस घटना ने प्रदेश की बिगड़ी कानून व्यवस्था को आईना दिखा दिया है। ये बात हरियाणा कांग्रेस के पूर्व प्रवक्ता अशोक बुवानीवाला ने विकास चौधरी की हत्या पर दु:ख प्रकट करते हुए कही। उन्होंने कहा कि प्रदेश ने एक उभरते हुए युवा नेता को खो दिया है। विकास चौधरी निरन्तर सरकार की नाकामियों और अरावली में भूमाफियों के खिलाफ जनता की आवाज उठा रहे थे। उनकी हत्या से प्रदेश कांग्रेस को गहरा आघात पहुंचा है। बुवानीवाला ने कहा कि प्रदेश में लगातार बढ़ती हत्याओं, दुष्कर्मों, अपहरण और लूट-पाट की घटनाओं से साफ हो गया है कि भाजपा राज में अपराधी बेलगाम हो चुके हैं। शांति और भाई-चारे के नाम से जाना जाने वाला हरियाण प्रदेश खट्टर सरकार की नाकामी से गुंडाराज व संगठित अपराध का गढ़ बन गया है। विकास चौधरी हत्याकांड की कड़ी निंदा करते हुए बुवानीवाला ने कहा की प्रदेश में कानून नाम की कोई चीज नहीं बची है। स्टेट क्राइम रिकार्ड ब्यूरो के अधिकृत आंकड़ों के हवाले से बुवानीवाला ने बताया कि प्रदेश में मई 2018 से अप्रैल 2019 के बीच हत्या के 1,087, दुष्कर्म के 1,681, अपहरण के 3,763, डकैती के 310, भारतीय दंड संहिता के अंतर्गत 1,08,449 संज्ञेय केस दर्ज हुए। यानी प्रदेश में हर रोज लगभग तीन हत्याएं, पांच दुष्कर्म, दस से अधिक अपहरण और लगभग एक डकैती की घटनाएं हुईं, जिनसे प्रदेश के बिगड़े हालात का पता चलता है। प्रदेश में दहशतगर्दी के इस माहौल के लिए सिर्फ खट्टर सरकार जिम्मेदार है। अशोक बुवानीवाला ने कहा कि कांग्रेस नेता की हत्या के चार घंटे बाद भी प्रदेश के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर द्वारा घटना पर अनभिज्ञता जताना अत्यंत ही संवेदनहीन, गैर जिम्मेदाराना और सत्ता के नशे में दिया गया बयान है। प्रदेश का गृह मंत्रालय खुद मुख्यमंत्री खट्टर के पास है उसके बावजूद इतनी बड़ी घटना की जानकारी न होना दु:ख की बात है। बुवानीवाला ने विकास चौधरी की हत्या की निष्पक्ष जांच व दोषियों को सख्त कानूनी सजा की मांग करते हुए पीडि़त परिवार के प्रति संवेदनाएँ व्यक्त की। 
Copyright @ 2019.