राष्ट्रीय (30/06/2019) 
विश्व प्रसिद्ध तिरुपति बालाजी मंदिर बोर्ड में बनाए गए ईसाई चेयरमैन को हटाने की मांग यूनाईटेड हिन्दू फ्रंट ने आंध्र प्रदेश भवन पर किया प्रदर्शन।

नई दिल्ली। विश्व प्रसिद्ध तिरुमाला, तिरुपति देवासम ट्रस्ट बोर्ड (टी.टी.डी) का चेयरमैन कट्टर ईसाई प्रचारक वाई.बी. सुब्बा रेड्डी को बनाएं जाने के विरोध में यूनाईटेड हिन्दू फ्रंट ने आज नई दिल्ली स्थित आंध्र भवन पर जोरदार प्रदर्शन कर मंदिर के ईसाई चेयरमैन को तत्काल हटाने व हिंदू समाज से ही किसी को चेयमैन बनाने की मांग की गई। कार्यकर्ताओं का नेतृत्व फ्रंट के अंतर्राष्ट्रीय अध्यक्ष नारायण गिरी जी महाराज कर रहे थे। इस मौके पर दंडी स्वामी इंदू आश्रम जी महाराज मुख्य अतिथि के रुप में शामिल थे। कार्यक्रम का आयोजन फ्रंट की दिल्ली ईकाई द्वारा किया गया। 
इस मौके पर फ्रंट द्वारा आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री  जगन मोहन रेड्डी को संबोधित एक ज्ञापन आंध्र भवन में मौजूद अधिकारी असिस्टेन्ट कमिश्नर  के. लिंगा राजू को भेंट कर तत्काल नव नियुक्त चेयरमैन को हटाने की मांग की गई तथा केंद्रीय गृह मंत्री से भी इस मामले में भी दखल अंदाजी कर चेयरमैन को हटाने की मांग की गई।
इस मौके पर उपस्थित कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए दंडी स्वामी इंदू आश्रम जी महाराज ने कहा कि आंध्र प्रदेश सरकार बालाजी ट्रस्ट में ईसाई चेयरमैन नियुक्त करके हिंदु समाज को कमजोर बनाने एवं प्राचीन व मजबूत हिंदु संस्कृति को कमजोर बनाने का कार्य किया है। उन्होनें कहा कि ईसाई चेयरमैन बनाने की मंशा से साफ जाहिर है कि राज्य में ईसाईकरण जोरों पर हैं और हिंदुओ को अपना सम्मान व धर्म बचाने के लिए आगे आना होगा।
इस मौके पर फ्रंट के अंतर्राष्ट्रीय अध्यक्ष नारायण गिरी जी महाराज ने कहा कि आंध्र सराकार के मुखिया जगन मोहन रेड्डी ने तिरुपति बालाजी मंदिर ट्रस्ट का चेयरमैन एक ईसाई को बनाकर हिंदुओं की धार्मिक आस्थाओं व आजादी पर कुठाराघात किया है जो बर्दाशत नहीं किया जाएगा और आंध्र सरकार को इसके गंभीर परिणाम भुगतने होंगे। उन्होनें कहा कि ट्रस्ट के नव नियुक्त चेयरमैन वाई.बी सुब्बा रेड्डी कट्टर ईसाई प्रचारक है जिन्हें हिंदु धर्म व उनकी मान्यताओं के बारे में नाम मात्र की भी जानकारी नहीं है।  
 नारायण  गिरी जी महाराज जी ने कहा कि तिरुपति बालाजी मंदिर की ख्याति हिंदुस्तान ही नहीं बल्कि पूरी दुनिया में फैली हुई है और मंदिर की स्वचछता , रिति-रिवाज व सात्विकता दुनिया भर के लोगो को अनायास ही अपनी ओर आकर्षित करती है। इसके बावजूद भी सरकार द्वारा हिंदुओं की धार्मिक आजादी के साथ खिलवाड कर और उन्हें कमजोर बनाने के उद्देश्य से यह कदम उठाया गया है जिस पर केंद्र सरकार को तत्काल हस्ताक्षेप कर हिंदु धर्म के साथ हो रहे छेड खानी को रोकनी चाहिए।
इस मौके पर दिल्ली प्रदेश अध्यक्ष  धर्मेन्द्र बेदी ने कहा कि अभी तक सरकारों द्वारा हिंदुओं के बड़े धर्म स्थलो, मंदिरों की कमेटी व बोर्ड बनाकर उससे प्राप्त चढ़ावे व राजस्व को मंदिरो के विकास के स्थान पर अन्य विभिन्न कार्यो में प्रयोग किया जाता रहा है,  मगर अब जब मंदिर ट्रस्ट की जिम्मेवारी ही एक अन्य धर्म के व्यक्ति को सौंप दी गई है, जिसे हिंदू समाज बर्दास्त नही करेगा।
इस मौक पर उपस्थित सभी वक्ताओं ने राज्य सरकार की कड़े शब्दों में आलोचना करते हुए नव नियुक्त चेयरमैन वाई.वी सुब्बा रेड्डी को तत्काल हटाए जाने की मांग की। इस मौके पर वक्ताओं ने चेतावनी देते हुए कहा कि अगर चेयरमैन को तत्काल नहीं बदला गया तो देश भर के संत महात्मा एकजुट होकर इसके खिलाफ आंदोलन छेडने को विवश हो होंगे।
इस मौके पर सर्व  शिव कुमार शर्मा, मंदीप गोयल, राहुल मनचंदा, धर्म प्रकाश शास्त्री, जय प्रकाश बघेल, डा. जितेन्द्र यादव, मदन लाल माहौर, मास्टर लख्मी चंद,  कांत यादव, चंदा देवी, सुबोध बिहारी, सुमन, रामनरेश, आदि प्रमुख कार्यकर्ताओ के साथ मौजूद थे।

Copyright @ 2019.