राष्ट्रीय (26/07/2019) 
दिल्ली भाजपा अध्यक्ष मनोज तिवारी ने कारगिल शहीदों को पुष्प अर्पित कर उन्हें नमन किया

नई दिल्ली, 26 जुलाई। कारगिल युद्ध के दौरान भारत की ऐतिहासिक विजय के सबसे बड़े भागीदार अमर जवान शहीदों को याद करते हुये आज दिल्ली भाजपा अध्यक्ष  मनोज तिवारी ने कारगिल विजय दिवस की 20वीं वर्षगांठ पर राष्ट्रीय समर समारक, इण्डिया गेट पर अमर जवानों को पुष्प अर्पित कर उन्हें नमन किया। इस अवसर पर प्रदेश महामंत्री  राजेश भाटिया, प्रदेश उपाध्यक्ष  अभय वर्मा, मती योगिता सिंह, मंत्री  गजेन्द्र यादव, मती शोभा उपाध्याय, मती मीनाक्षी,  संजीव शर्मा, प्रवक्ता मती टीना शर्मा,  राजकुमार भाटिया, पूर्वांचल मोर्चा अध्यक्ष  मनीष सिंह, जिला अध्यक्ष  अनिल शर्मा एवं मीडिया सह-प्रभारी  नीलकांत बख्शी, पूर्वी दिल्ली नगर निगम माहपौर मती अंजू कमलकांत, दक्षिणी दिल्ली स्थायी समिति अध्यक्ष मती शिखा राय, जिला एवं मंडल पदाधिकारी, निगम पार्षद सहित कार्यकर्ता उपस्थित थे।

 

अमर जवानों को पुष्प अर्पित कर दिल्ली प्रदेश अध्यक्ष  मनोज तिवारी ने कहा कि भारत की सरजमीं पर जब जब किसी ने गलत मंशा के साथ कदम रखने की कोशिश की है तो धरती मां के सच्चे सपूतों ने उन पैरों को उखाड़ कर सीमा से बाहर फेंक दिया है। आज करगिल विजय दिवस भारत पाकिस्तान के उस युद्ध की याद दिलाता है जिसमें पाकिस्तान ने मित्र बनकर भारत के साथ विश्वासधात करते हुये पीठ में छुरा घोंपने का काम किया था। देश की अखण्डता व संप्रभुता को नुकसान पहुंचाने के इरादे से पाकिस्तान ने छुप कर धोखे से हम पर वार किया, लेकिन हमारे वीर शहीदों ने अपने सीनों को आगे कर गोलियां खाई, लेकिन दुश्मन को सीमा में घुसने नहीं दिया। सच्चे साहस और वीरता की अद्भुत कहानियों वाले ऐसे वीर शहीदों को शत शत नमन करने के लिए आज हम राष्ट्रीय समर स्मारक पर एकत्र हुये हैं। प्रधानमंत्री  नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में 2014 में सरकार बनते ही शहीदों को समुचित सम्मान देने के लिए राष्ट्रीय समर स्मारक बनाने की नींव रखी गई।

 

 तिवारी ने कहा कि 2019 में पुनः प्रधानमंत्री बनने के बाद मोदी सरकार का पहला अहम निर्णय राष्ट्रीय रक्षा कोष के तहत पीएम छात्रवृत्ति योजना में स्वीकृत बड़े बदलाव, जिनमें आतंकी या माओवादी हमलों में शहीद हुए पुलिसकर्मियों के बच्चों के लिए बढ़ाई गई छात्रवृत्ति शामिल है। कांग्रेस सरकार के दौरान भारत के वीर सैनिकों के साथ पाकिस्तान की तरफ से क्रूर कार्रवाई की जाती थी, लेकिन सरकार चुप्पी साधे रखती थी, लेकिन मोदी सरकार के सत्ता में आते ही चाहे उरी की सर्जिकल स्ट्राईक हो या फिर पुलवामा के बाद एयर स्ट्राईक हो, हमारे वीर सैनिकों की वीरता ने पाकिस्तान को उसी की भाषा में जवाब दिया है। सेना वही है लेकिन नेतृत्व का फर्क आज दुनिया मान रही है। शहिदों के परिवार व उनके परिजनों को समुचित सम्मान देने के लिए केन्द्र सरकार ने कई कदम उठाये है।

 

प्रदेश महामंत्री  राजेश भाटिया ने कहा कि भारत माता के वीर सपूतों ने अपनी जान की परवाह न करते हुये सीमा की सुरक्षा में अपने प्राणों को न्यौछावर किया है। भारत माता की सच्ची सेवा करने वाले करगिल विजय दिवस के सभी नायकों को दिल्ली भाजपा की ओर से शत-शत नमन है। आज हम अपने घरों में चैन, सुकून से रह सकते हैं जिसमें सबसे बड़ा योगदान सीमा पर बैठे प्रहरियों का होता है, वो जागते हैं तो हम चैन से सो पाते हैं।

 

Copyright @ 2019.