राष्ट्रीय (14/08/2019) 
जीएसटीआर-9 भरने की अंतिम तिथि को अनिश्चित काल के लिए स्थगित करने की मांग
भिवानी, 14 अगस्त। राष्ट्रीय जन उद्योग व्यापार संगठन के कार्यकारी अध्यक्ष अशोक बुवानीवाला ने सालाना विवरणी जीएसटीआर-9 भरने की अंतिम तिथि को अनिश्चित काल के लिए स्थगित करने की मांग की है।  बुवानीवाला ने कहा कि जीएसटी के प्रथम वर्ष यानी वर्ष 2017-18 की जीएसटी की सालाना विवरणी जीएसटी-9 अभी तक सिर्फ 20 फीसदी करदाताओं द्वारा भरी गयी है क्योंकि इसका मुख्य कारण जीएसटी विवरणी के कठिन अनुपालन एवं विवरणी में अव्यवहारिक प्रक्रिया है। उन्होंने कहा कि जीएसटी के प्रथम वर्ष में जीएसटी पोर्टल में बहुत ज्यादा तकनीकी कठिनाई के चलते हुई त्रुटियों को सुधारने का कोई प्रावधान नहीं है और जीएसटीआर-9 उन्ही पूर्व में भरे विवरणियों से समस्त डाटा उठा रहा है, ऐसे में यदि पूर्व में हुई गलती का सुधार नहीं हुआ जिससे सालाना विवरणी स्वत: ही गलत डाटा के साथ भरी जाएगी। ऐसे अवस्था में कर प्रशासन द्वारा व्यापारी उत्पीडऩ सुनिश्चित है और यही डर व्यापारियों को सता रहा है जिसके चलते जीएसटीआर-9 भरने में संकोच कर रहे है। बुवानीवाला ने बताया कि कुछ व्यापारियों द्वारा यह भी संज्ञान में लाया गया है कि जीएसटीआर-9 में यदि किसी व्यापारी के खरीद के बिल नहीं दर्शाए जा रहे है तो उक्त व्यापारी के इनपुट के्रडित का मिलान ना होने के कारण, उसे पुन: जीएसटी का भुगतान करना पड़ रहा है, जो सरासर गलत है। व्यापारी नेता ने कहा कि जीएसटी की सालाना विवरणी को व्यावहारिक एवं सरल बनाने हेतु प्रमुख व्यापारी संगठनो के साथ विचार विमर्श किया जाए और समस्त प्रक्रिया को इतना सरल बनाया जाए ताकि किसी भी व्यापारी को इसके अनुपालन में कोई कठिनाई न हो। उन्होंने कहा कि जब तक जीएसटीआर-9 को व्यावहारिक नहीं बनाया जाता और पूर्व में भरे गए सभी विवरणियों में संशोधन का प्रावधान नहीं लाया जाता, तब तक जीएसटीआर-9 भरने की अंतिम तिथि को अनिश्चित काल के लिए स्थगित किया जाए।
Copyright @ 2019.