राष्ट्रीय (27/08/2019) 
दिल्ली भाजपा अध्यक्ष मनोज तिवारी ने पानी के बकाया बिलों पर विलम्ब शुल्क माफ करने को केजरीवाल की चुनावी घोषणा बताया

नई दिल्ली, 27 अगस्त। केजरीवाल सरकार द्वारा पानी के बकाया बिलों पर विलम्ब शुक्क माफ करने को चुनावी घोषणा बताते हुये दिल्ली भाजपा अध्यक्ष  मनोज तिवारी ने कहा कि मुफ्त की घोषणायें केवल चुनावों को नजदीक पाकर जनता को भ्रमित करने के लिए की जा रही हैं। तलाबों को जीवित कर भू-जल को रीचार्ज करने की बात भी कही गई लेकिन यह योजना भी पूरी तरह से विफल साबित हुई। दिल्ली के 8 वाटर ट्रीटमेन्ट प्लान्टों में से जितना पानी रोजना निकलता था वो लीकेज की वजह से घटकर आधे से भी कम हो जाता है। केजरीवाल सरकार को लीकेज की ओर सबसे अधिक ध्यान देना चाहिए ताकि दिल्ली की प्यास बुझाने वाला पानी बर्बाद न हो सके। दिल्ली के मुख्यमंत्री के पास एक ही विभाग है और वो है दिल्ली जल बोर्ड जिसे चलाने में वो पूरी तरह से विफल साबित हुये हैं। जिसके कारण दिल्ली जल बोर्ड आज पूरी तरह घाटे में चल रहा है और इसके जिम्मेदार मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल हैं। 

 

 तिवारी ने कहा कि जल बोर्ड ने दिल्ली में साढ़े चार वर्षों में बहुत बड़ी अव्यवस्था फैला दी है। कहीं महीनों से बिल नहीं दिये गये, तो कहीं मीटर की रीडिंग नहीं ली गई और जहां मीटर की रीडिंग ली गई वो गलत पायी गयी। एक विभाग द्वारा इतनी लापरवाही बरती गई लेकिन दिल्ली के मुखिया ने इस पर चुप्पी साधे रखी। जनता को जानबूझ कर परेशान करने के लिए पहले दिल्ली जल बोर्ड ने लोगों को भारी भरकम राशि का बिल दिया, जब उन्होंने बिना पानी के आये बिलों के भुगतान करने से इंकार कर दिया तो उनके लिए एरियर पर विलम्ब शुल्क माफ करने की बात अब की जा रही है, जबकि कुछ महीनों बाद दिल्ली में चुनाव होने हैं। स्पष्ट है यह घोषणा भी केजरीवाल सरकार की बाकी की मुफ्त की घोषणाओं की श्रृंखला का एक हिस्सा है। केजरीवाल अचानक एक्शन मोड में आने का नाटक करके एक के बाद एक घोषणायें कर जनता को गुमराह करने की नाकाम कोशिश कर रहे हैं। केजरीवाल सबसे पहले मुफ्त सेवाओं की राजनीति का परित्याग कर पूरी दिल्ली में पानी की समस्या जिसने विकराल रूप धारण कर लिया है उसका निवारण करते हुये घर-घर तक जल पहुंचाये।

 

 तिवारी ने कहा कि केजरीवाल सरकार की कथनी और करनी के फर्क को दिल्ली की जनता समझ चुकी है। पांच साल पहले सत्ता पाने के लिए चुनावी घोषणाओं को उसने सुना और अब सत्ता में बने रहने के लिए घोषणायें की जा रही है। केजरीवाल सरकार द्वारा हर दिन नया झूठ बोला जाता है और सरकारी खर्च पर महंगें विज्ञापनों की चाशनी में ऐसा डुबोया जाता है कि लोगों को लगे जैसे काम कितनी तेजी से हो रहा है, लेकिन सच्चाई उसके विपरीत होती है। काम करने की आदत व नीयत आम आदमी पार्टी के संस्कारों में नहीं है। जनता भाजपा की ओर आस लगाये बैठी है और वो दिल्ली में भाजपा की पूर्णबहुमत की मजबूत सरकार बनाकर रहेगी। दिल्ली करती एक पुकार, झूठ का होगा पर्दाफाश, दिल्ली स्वच्छ बनायेंगे, कमल ही कमल खिलायेंगे।

 

Copyright @ 2019.