राष्ट्रीय (26/09/2019) 
दिल्ली भाजपा अध्यक्ष मनोज तिवारी पर केजरीवाल के आपत्तिजनक बयान के विरोध में पूर्वांचल मोर्चा ने किया प्रचंड प्रदर्शन

नई दिल्ली, 26 सितम्बर। भारतीय जनता पार्टी पूर्वांचल मोर्चा अध्यक्ष  मनीष सिंह के नेतृत्व में आज अरविन्द केजरीवाल के निवास पर प्रदर्शन किया। कार्यकर्ता सुबह 11 बजे चंदगीराम अखाड़े के पास एकत्रित हुए और केजरीवाल के विरुद्ध नारेबाजी करते हुए उनके निवास की ओर बढ़े। कार्यकर्ता  एनआरसी पर मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल द्वारा दिल्ली भाजपा अध्यक्ष  मनोज तिवारी पर दिए गए आपत्तिजनक बयान से क्षुब्ध थे और केजरीवाल के खिलाफ नारेबाजी कर रहे थे। उन्होंने हाथों में तख्तियां ले रखी थी जिन पर लिखा था केजरीवाल शर्म करो, शर्म करो। पुलिस द्वारा लगाए गए अवरोधों को पार कर कार्यकर्ता केजरीवाल के निवास के निकट पहुंच गये, जहां पुलिस ने पानी की बौछार मार कर कार्यकर्ताओं को रोक दिया। पुलिस ने सभी कार्यकर्ताओं को गिरफ्तार कर बसों मंे बैठाकर थाने ले गई, इसके उपरान्त उन्हें रिहा कर दिया गया।

उपस्थित कार्यकर्ताओं  को संबोधित करते हुए भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश उपाध्यक्ष  अभय वर्मा ने कहा कि क्या केजरीवाल पूर्वांचलवासियों को अवैध बांग्लादेशी व रोहिंग्या समझते हैं या विदेशी घुसपैठिये समझते हैं। दिल्ली में रहने वाले दूसरे राज्यों के लोगों को केजरीवाल दिल्ली से बाहर करना चाहते हैं जबकि यहां रहने वाले लोग दिल्ली के विकास में योगदान दे रहे हैं। केजरीवाल की यह देश तोड़ने वाली साजिश का हिस्सा है जिसे दिल्ली के लोग बर्दास्त नहीं करेंगे। अरविंद केजरीवाल मानसिक संतुलन खो बैठे हैं। उन्होंने कहा कि अरविंद केजरीवाल अपना जनाधार खो चुके हैं और दिल्ली की जनता के बीच बेनकाब हो चुके हैं इसलिए कभी मुफ्ती योजना चलाकर तो कभी समाज को नफरत की दीवार के बीच बांट कर दिल्ली में अपना राजनैतिक भविष्य तलाश रहे हैं। लेकिन दिल्ली की जनता लोकसभा चुनाव में उन्हें आइना दिखाने का काम कर चुकी है और आने वाले विधानसभा चुनावों में अरविन्द केजरीवाल दिल्ली से अपना आशियाना समेटते हुए नजर आएंगे। 

 

प्रदर्शन में उपस्थित जन सैलाब को सम्बोधित करते हुये दिल्ली भाजपा पूर्वांचल मोर्चा अध्यक्ष  मनीष सिंह ने कहा कि केजरीवाल ने पूर्वांचल की आन बान शान दिल्ली भाजपा अध्यक्ष  मनोज तिवारी के लिए अपमान भरे शब्दों का प्रयोग करते हुये उनकी तुलना भारत में अवैध रूप से रह रहे बांग्लादेशी व रोहिंग्या घुसपैठियों से की है जो कि दिल्ली में रह रहे समस्त पूर्वांचलवासियों का अपमान है। पूर्वांचल के लोगों ने वर्ष 2015 में आम आदमी पार्टी को अपना अपार जनसमर्थन, प्यार व आशीर्वाद दिया था कि वो दिल्ली को विकास की मुख्यधारा से जोड़ने के लिए काम करेंगे। लेकिन केजरीवाल ने एक बार नहीं अनेकों बार पूर्वांचल के लोगों के मान सम्मान को ठेस पहुंचाने की कोशिश की है। केजरीवाल के बयान से दिल्ली में रह रहे लाखों पूर्वांचल के लोगों की भावनाओं को ठेस पहुंची है और इसके लिए उन्हें तुरन्त प्रभाव से माफी मांगनी चाहिए। पूर्वांचल के लोग दिल्ली में रहकर दिल्ली के सर्वांगीण विकास के लिए अलग-अलग क्षेत्र में अपना महत्वपूर्ण योगदान देते हैं।

 

 मनीष सिंह ने कहा कि मेहनतकश, ईमानदार व अपने दायित्वों का सही प्रकार से पालन करने वाला हर पूर्वांचलवासी आज क्रोध में है और वो दिल्ली के मुख्यमंत्री से यह जवाब मांगता है कि जब आप पूर्वांचल के लोगों के लिए कोई काम नहीं कर सकते हैं तो उन्हें अपमानति करने का अधिकार आपको किसने दिया। केजरीवाल स्वंय को शिक्षित कहते हैं और वो संवैधानिक पद पर बैठे हैं और इससे पहले वो एक अधिकारी रह चुके हैं, लेकिन इसके बावजूद उनको राष्ट्रीय नागरिक रजिस्ट्र (एन.आर.सी) के बारे में सही ज्ञान नहीं है। यदि केजरीवाल को सही ज्ञान होता तो ऐसे अपमानजनक शब्दों का प्रयोग कर आज वो हंसी के पात्र नहीं बनते। दिल्ली में रह रहे लाखों पूर्वांचलवासी केजरीवाल द्वारा किये गये अपने इस अपमान के लिए उन्हें कभी माफ नहीं करेंगे। अगामी विधासभा चुनावों में पूर्वांचल के लोग केजरीवाल को अपनी ताकत का अहसास जरूर करायेंगे और आम आदमी पार्टी को दिल्ली की सत्ता से बाहर करने के लिए मतदान करेंगे। 

 

इस प्रदर्शन में दिल्ली प्रदेश उपाध्यक्ष  अभय वर्मा, युवा मोर्चा अध्यक्ष  सुनील यादव, ओ.बी.सी मोर्चा अध्यक्ष  गौरव खारी, अनुसुचित जाति मोर्चा अध्यक्ष  मोहन लाल गिहारा, महिला मोर्चा अध्यक्ष मती पूनम पाराशर झा, अल्पसंख्यक मोर्चा अध्यक्ष मो. हारून, किसान मोर्चा अध्यक्ष  मुकेश मान, पूर्वांचल मोर्चा सह-प्रभारी  प्रेमकांत चैधरी, उपाध्यक्ष  राहुल रंजन,  संतोष ओझा,  अशोक यादव,  जगदम्बा सिंह,  अमरेन्दर सिंह,  बी एन झा, कार्यालय मंत्री  प्रदीप पाण्डेय, मंत्री  नन्द किशोर चैधरी,  भास्कर भारती, प्रवक्ता  विमल सिंह एवं मीडिया प्रमुख  आलोक रंजन एवं  संगम तिवारी सहित सभी जिला अध्यक्ष, जिला पदाधिकारी, मण्डल अध्यक्ष एवं हजारों की संख्या में कार्यकर्ता शामिल हुये।

 

Copyright @ 2019.