राष्ट्रीय (28/09/2019) 

नई दिल्ली। वर्ष 1528 से लेकर 1992 तक राम जन्म भूमि अयोध्या मुक्ति हेतु हुए आंदोलनों में बलिदान हुए लगभग लाख बलिदानियों का यूनाईटेड हिन्दू फ्रंट द्वारा आज पितृ अमावस्या पर श्राद्ध कर ब्रह्म भोज आयोजित किया गया। कार्यक्रम का आयोजन नई दिल्ली के मंदिर मार्ग स्थित हिन्दू महासभा भवन में किया गया जिसमें राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ के दिल्ली प्रांत के कार्यकारिणी सदस्य  दयानंद जी एवं  अग्र भागवत के ग्रंथकार  राम गोपाल बेदिल जी प्रमुख रूप से मौजूद थे। कार्यक्रम का आयोजन भारतीय जनता पार्टी के वरिष्ठ नेता एवं यूनाईटेड हिन्दू फ्रंट के अंतराष्ट्रीय कार्यकारी अध्यक्ष  जय भगवान गोयल द्वारा किया गया था। इस मौके पर बलिदानियों का श्राद्ध एवं हवन यज्ञ के पश्चात 51 ब्राह्मणों को भोज करवाया गया।
इस मौके पर  गोयल ने कहा कि  राम जन्म भूमि अयोध्या मुक्ति आंदोलन में बलिदान हुए राम भक्त हम देशवासियों के पूर्वज थे जिनकी इच्छा जल्द ही पूर्ण होने वाली है। उन्होंने कहा कि भगवान  राम की जन्म स्थली में मंदिर निर्माण हिन्दुओं की आस्था व धार्मिक भावना ही नहीं बल्कि विशाल हिन्दुस्थान की आन का भी सवाल बन चुका है। हिन्दुस्थान के बाहर से आने वाले लाखों करोड़ों विदेशी पर्यटक जब अयोध्या पहुंचते है और वहां पर भगवान  राम को खुले आसमान के नीचे टांट में देखते है तो उन सबका यहीं सवाल होता है कि हिन्दुस्थान के भगवान खुले आसमान के नीचे क्यों हैं?
 गोयल ने कहा कि भारतीय संस्कृति के अनुसार पितृ पक्ष में हम सभी हिन्दुओं द्वारा गौलोक वासी अपने माता-पिता व बड़े बुजर्गों का श्राद्ध तर्पण किया जाता है किन्तु राम जन्म भूमि मुक्ति आंदोलन में बलिदान लगभग लाख बलिदानी जो हम सभी 130 करोड़ भारतीयों के पूर्वज है उन्हें भूल बैठे थे जिनका श्राद्ध करने का संकल्प यूनाईटेड हिन्दू फ्रंट ने उठाया है। उन्होंने कहा कि वर्तमान में न्यायालय द्वारा  राम जन्म भूमि मामले के समाधान हेतु जो प्रक्रिया व कार्यवाही की जा रही है वह स्वागत योग्य है और निकट भविष्य में जल्द ही राम मंदिर निर्माण का मार्ग प्रशस्त होगा। उन्होंने कहा कि  राम जन्म भूमि आंदोलन में अब तक बलिदान हुए कारसेवकों का सपना जल्द ही साकार होने जा रहा और अयोध्या में भव्य मंदिर निर्माण कानून व आम जनता के सहयोग पूर्ण होगा।

इस मौके पर हिन्दू महासभा के राष्ट्रीय अध्यक्ष व यूनाईटेड हिन्दू फ्रंट के उपाध्यक्ष  चन्द्र प्रकाश कौशिक सहित सर्व चौ. ईश्वर पाल सिंह (प्रभारीदिल्ली प्रदेश)धर्मेन्द्र बेदी (अध्यक्षदिल्ली प्रदेश)पी. एल. कपूर (सचिवउत्तर प्रदेश)सुशल थपड़ियालरविन्द्र पंडिता (फाउण्डर सेव शारदा कमेटी)जय प्रकाश बघेलजितेन्द्र यादवयोगी जय नाथ जी महाराजसुमित अरोड़ाबजरंग बहादुर मिश्राशंकर लाल अग्रवाल आदि प्रमुख रूप से मौजूद थे।

Copyright @ 2019.