राष्ट्रीय (01/10/2019) 
नितिन गडकरी ने बांस से बनी पानी की बोतल और अन्‍य उत्‍पाद लॉन्‍च किए

केन्‍द्रीय सूक्ष्‍मलघु एवं मध्‍यम उद्यम और सड़क परिवहन व राजमार्ग मंत्री श्री नितिन गडकरी ने महात्‍मा गांधी की 150वीं जयंती की पूर्व संध्‍या पर आज नई दिल्‍ली में केवीआईसी के नए उत्‍पादों को लॉन्‍च करने के साथ-साथ एक विशेष बिक्री अभियान भी शुरू किया। उन्‍होंने बांस से बनी 700 एमएल और 900 एमएल की क्षमता वाली बोतल को लॉन्‍च किया। यह बोतल त्रिपुरा स्थित एक संगठन द्वारा बनाई गई है। इसे प्‍लास्टिक की बोतलों का सटीक प्रतिस्‍थापन या विकल्‍प माना जा रहा है क्‍योंकि यह प्राकृतिक,किफायतीआकर्षक और सर्वाधिक पर्यावरण अनुकूल है। उन्‍होंने लाडली द्वारा तैयार किफायती सैनिटरी नैपकि‍न के साथ-साथ एक नए साबुन और कच्‍ची घानी सरसों तेल को भी लॉन्‍च किया।

महात्‍मा गांधी की 150वीं जयंती की पूर्व संध्‍या पर राष्‍ट्रपिता को स्‍मरण करते हुए श्री गडकरी ने कहा कि खादी और ग्रामोद्योग गांधीजी के हृदय के बहुत करीब थे। उन्‍होंने कहा कि गांधीवादी अर्थशास्त्र में अधिकतम लोगों की भागीदारी के साथ अधिकतम उत्पादन पर जोर दिया जाता है और भारत सरकार उनके सपनों को साकार करने के लिए पूरी तन्‍मयता के साथ काम कर रही है। उन्‍होंने कहा कि 400 रेलवे स्‍टेशनों पर कुल्‍हड़ में चाय सुलभ कराना और चमड़ा कारीगरों को टूल किट का वितरण इसी दिशा में अहम कदम हैं। श्री गडकरी ने खादी उत्‍पादों के आधुनिकीकरण की आवश्‍यकता पर भी बल दिया,ताकि उन्‍हें युवाओं के लिए और ज्‍यादा आकर्षक बनाया जा सके। उन्‍होंने कहा कि मंत्रालय और केवीआईसी इस संबंध में प्रख्‍यात डिजाइनरों के साथ सहयोग कर रहे हैं। श्री गडकरी ने कहा कि मौजूदा समय में 200 एमएसएमई कंपनियां नेशनल स्‍टॉक एक्‍सचेंज (एनएसई) में सूचीबद्ध हैं। उन्‍होंने कहा कि केवीआईसी को भी एनएसई में कुछ उद्यमियों को सूचीबद्ध कराने के प्रयास करने चाहिए जिससे कर्ज का प्रवाह आसान हो जाएगा।

श्री गडकरी ने पर्यावरण अनुकूलकिफायती और स्‍वास्‍थ्‍य तथा पर्यावरण के लिए बेहतर माने जाने वाले नए उत्‍पादों को विकसित करने में केवीआईसी द्वारा किए गए प्रयासों की सराहना की। उन्‍होंने उम्‍मीद जताई कि इस वर्ष खादी और ग्रामोद्योग आयोग (केवीआईसी) 13 अक्‍टूबर, 2018 को एक ही दिन में 1.25 करोड़ रुपये की बिक्री करने के स्‍वयं के रिकॉर्ड को तोड़ देगा।

केवीआईसी के अध्‍यक्ष श्री विनय सक्‍सेना ने कहा कि केवीआईसी ग्रामोद्योगों के पुनरुत्‍थान में जुटा हुआ है। आज लॉन्‍च किए गए कच्‍ची घानी सरसों तेल की आपूर्ति प्रधानमंत्री रोजगार सृजन कार्यक्रम (पीएमईजीपी) से जुड़ी एक यूनिट कर रही हैजिसे हाल ही में जयपुर के निकट स्‍थापित किया गया है। किफायती सैनिटरी नैपकिन भी एक पीएमईजीपी यूनिट में तैयार किए जा रहे हैं जो चंडीगढ़ में अवस्थित है। उन्‍होंने बताया कि केवीआईसी का वार्षिक कारोबार लगभग 3,000 करोड़ रुपये है और इसे आने वाले वर्षों में बढ़ाकर 5,000 करोड़ रुपये के स्‍तर पर पहुंचाने की कोशिश की जा रही है।

महात्‍मा गांधी की 150वीं जयंती मनाने के मद्देनजर केवीआईसी पहली बार गांधी टोपी एवं गांधी धोती पर 40 प्रतिशत डिस्‍काउंट या छूट दे रही है। इसी तरह सभी ग्रामोद्योग उत्‍पादों पर 20 प्रतिशत छूट दी जाएगी जो 2 अक्‍टूबर से प्रभावी होगी और यह 40 दिनों के लिए मान्‍य होगी।  

Copyright @ 2019.