राष्ट्रीय (07/11/2019) 
संगठित होकर दुनिया की कोई भी लड़ाई जीती जा सकती है : लक्ष्य

पलवल हरियाणा ||   लक्ष्य की पलवल टीम ने " बहुजन जनजागरण" अभियान के तहत एक भीम चर्चा का आयोजन हरियाणा के जिला पलवल के गांव लोहागढ़ में किया जिसमें गांव के लोगो ने बढ़चढ़कर हिस्सा लिया |

 

संगठित होकर दुनिया की कोई भी लड़ाई जीती जा सकती है | इतिहास गवाह है कि जो लोग संगठन में रहते है यानिकि मिलजुलकर भाईचारे के साथ रहते है,वे लोग दुनिया की हर चीज हांसिल कर सकते हैं | जो लोग संगठित नहीं रहते है,वे लोग मानवीय जीवन के लिए तरसते है और उनका कदम कदम पर शोषण होता है उनको मूलभूत अधिकारों से भी  वंचित रहना  पड़ता है। इसका एक बहुत बड़ा उदाहरण बहुजन समाज है जो संख्या में तो लगभग 85% है लेकिन इसके  बावजूद हजारो वर्षो तक मुट्ठी भर लोगो का गुलाम बना रहा, क्योंकि बहुजन समाज के लोगों में भाईचारा नहीं है और भाईचारा न होने की वजह से उनमे एकजुटता नहीं बन पाई अर्थात उनके लोग संगठित नहीं हो पाए, परिणाम हमारे सामने है यह बात लक्ष्य के कमांडरों ने अपने सम्बोधन में कही |

 

उन्होंने एकजुटता का उदाहरण देते हुए कहा कि मान्यवर कांशी राम जी ने अपनी ईमानदारी व समर्पण के बलबूते एक एक व्यक्ति को जागरूक करके टुकड़े टुकड़े में बटे हुए बहुजन समाज को एक मजबूत संगठन  में बदल कर दिखाया और जो लोग गुलामी का जीवन जीने के लिए  मजबूर थे उनको देश का हुकमरान बनाया | उन्होंने बहुजन  समाज के लोगो को सन्देश दिया कि अगर आप लोग भाईचारे के साथ रहकर एक मजबूत संगठन बनाते हो तो आप लोग देश के हुकमरान बनकर अपना भविष्य स्वयं लिख सकते हो |  

 

उन्होंने आह्वान करते हुए कहा कि आओ मिलकर समाज में भाईचारा बनाये ताकि बहुजन समाज संगठित होकर देश का हुकमरान बन सके और अपना भविष्य स्वयं लिख सके |

 

इस भीम चर्चा में लक्ष्य कमांडर कविता जाटव, दयावती कर्दम, सीमा कर्दम, अरुणा कर्दम, क्रांति कर्दम, महेंद्र कर्दम, नेत्रपाल सिंघानिया, बानवीर बौद्ध व सतबीर बौद्ध ने हिस्सा लिया |

 

भीमचर्चा के आयोजक लक्ष्य कमांडर योगेश बौद्ध, गौतम, राज कुमार व सोनू ने सभी लोगो का धन्यवाद किया और पलवल के गांव गांव में लक्ष्य को मजबूत करने की बात कही |

Copyright @ 2019.