राष्ट्रीय (26/04/2020) 
केन्द्र व प्रदेश सरकार से व्यापारियों के लिए एक बड़ा राहत पैकेज देने की मांग
भिवानी, 26 अप्रैल। राष्ट्रीय जन उद्योग व्यापार संगठन के राष्ट्रीय कार्यकारी अध्यक्ष अशोक बुवानीवाला ने केन्द्र व प्रदेश सरकार से व्यापारियों के लिए एक बड़ा राहत पैकेज देने की मांग की है। बुवानीवाला ने कहा कि देश का व्यापारी लॉकडाउन में बड़े संकट से गुजर रहा हैं। बुवानीवाला ने कहा कि नोटबंदी व जीएसटी की मार से पहले से बेहाल व्यापारी अब लॉकडाउन में भूखे मरने की कगार पर आ गए है। उन्होंने कहा कि पूरे देश में लॉकडाउन है और अभी भी कोरोना के खतरे को देखते हुए ये कितने दिन ओर जारी रह सकता है ये भी कहना मुश्किल है। लॉकडाउन अगर समय पर खुल भी गया तो ऐसे हालातों में व्यापारियों के लिए अपने व्यापार को पटरी पर मुश्किल है। बुवानीवाला ने कहा कि संकट की इस घड़ी में व्यापारी वर्ग को ‘विशेष दर्जे’ में रखा जाए। उन्होंने मांग करते हुए कहा कि छोटे व मध्यम व्यापारियों को जिनका टर्न ओवर 1 से 5 करोड़ के लगभग हैं उसके किसानों की तर्ज पर बैंक लोन पचास प्रतिशत मा$फ किए जाए। व्यापारी नेता ने कहा कि व्यापारी वर्ग समस्त टैक्स भी भरता है और अपने स्तर पर गरीबों के लिए भोजन और कई सामाजिक सहयोग करता हैं फिर भी सरकार की स्कीमों से अछूता रहता हैं। उन्होंने कहा कि मध्यमवर्गीय व्यापारी को बैंक ब्याज का, बिजली बिल, जीएसटी, सैलरी, संपती कर, मैडिक्लेम, शिक्षा का खर्च, स्टाफ खर्च, लायसेंस, इनशयोरेन्स आदि बोझ से दबा हैं। ऐसे में सरकार की जिम्मेदारी है कि देशभर में  करोड़ों लोगों का रोजगार सुनिश्चित करने वाले व्यापारियों को आर्थिक सहायता दी है। ई-कॉमर्स का मुद्दा उठाते हुए बुवानीवाला ने कहा कि खुदरा व्यापारी के हितों को भी ध्यान रखकर उन्हें संरक्षण प्रदान किया जाए और बाहरी ई-कॉमर्स कम्पनियों को रोका जाएं। व्यापारी वर्ग के सीनियर सिटिजन को रिटायर्ड पेंशन दी जावे व स्वास्थ्य हित में सरकार उनका बीमा भी कराए क्यूँकि यह देश हित में सहयोग के रूप में टैक्स देते हैं सहयोग करते हैं। उन्होंने कहा की जब सरकार अन्य वर्गों को राहत दे सकती है तो व्यापारी वर्ग को क्यूं नहीं। बुवानीवाला ने कहा कि मध्यम वर्गीय व्यापारी देश की रीढ़ है इसलिए सरकार उन्हें मजबूत करने के लिए कम से कम ब्याज दर पर लोन दिया जावे और ही जीएसटी की दरें भी कम रखी जाऐं। अशोक बुवानीवाला ने सरकार से मांग करते हुए कहा कि वह जल्द से जल्द व्यापारियों की समस्याओं पर ध्यान दे और एक बड़ें आर्थिक राहत पैकेज की घोषणा करें क्योंकि आम लोगों के रोजगार में व्यापारियों की बड़ी भूमिका है।
Copyright @ 2019.