राष्ट्रीय (28/07/2020) 
समाचार वार्ता की मीडिया भागीदारी के साथ राष्ट्रीय वेबिनार का आयोजन: विजय गौड़
समाचार वार्ता की मीडिया भागीदारी के साथ  " महिलाओं के प्रति बढ़ते हुए साइबर अपराध : उपाय एवं रोकथाम " विषय पर भागीदारी जन सहयोग समिति , दिल्ली राज्य विधिक सेवाएं प्राधिकरण , हरियाणा  राज्य विधिक सेवाएं प्राधिकरण , राष्ट्रीय सेवा योजना - के० आर० मंगलम यूनिवर्सिटी एवं गौतम बुद्ध यूनिवर्सिटी के संयुक्त तत्वावधान में राष्ट्रीय वेबिनार का आयोजन किया l इस वेबिनार में दिल्ली यूनिवर्सिटी , गुरु गोबिंद सिंह इंद्रप्रस्थ यूनिवर्सिटी , डॉक्टर भीमराव आंबेडकर यूनिवर्सिटी आगरा , जामिया हमदर्द यूनिवर्सिटी , जे० सी० बोस यूनिवर्सिटी ऑफ़ साइंसेज एंड टेक्नोलॉजी फरीदाबाद की राष्ट्रीय सेवा योजना टीम  सहयोगी आयोजक के रूप में जुडी lराष्ट्रीय वेबिनार में प्रो० आदित्य मालिक उपकुलपति  के० आर० मंगलम यूनिवर्सिटी ने अपने स्वागत भाषण में सभी अतिथियों का अभिनन्दन करते हुए साइबर क्राइम रोकथाम अभियान  में जन -जन की भागीदारी की अपील की l 
 मुख्य अतिथि  सुश्री रेखा शर्मा अध्यक्षा , राष्ट्रीय महिला आयोग ने  अपने सन्देश मे आयोग अध्यक्षा रेखा शर्मा ने कहा  कि युवक युवतियां साइबर तकनीक  से अपने आप को सशक्त बनाये न कि साइबर की तकनीक को किसी को परेशान करने का माध्यम बनाये l उन्होंने कहा कि छात्राएं एवं अन्य महिलाएं कंप्यूटर अथवा मोबाइल  प्रयोग  करते समय सावधानी बरते एवं भूल कर भी अपनी निजी फोटो या जानकारी शेयर न करे l
             मुख्य वक्ता अजय कश्यप सेवानिवृत भारतीय पुलिस सेवा अधिकारी एवं पूर्व महानिदेशक दिल्ली जेल एवं होम गॉर्डस ने  बताया कि सोशल मीडिया परिवर्तन का एक उपकरण है।  नारियों को अपने पीड़िता  होने के भय  को छोड़कर सोशल मीडिया को अपनाना चाहिए। उन्होंने यह भी कहा कि इंटरनेट व तकनीकिकरन में बहुत शक्ति है, यदि उसका दुरूपयोग न किया जाए तो।  नार्थ म्युनिसिपल कारपोरेशन दिल्ली की अतिरिक्त आयुक्त डाक्टर रश्मि सिंह भारतीय प्रशासनिक सेवा अधिकारी  ने  सावधान किया  कि आधी जानकारी खतरनाक सिद्ध होती है, इसलिए औरतों को इंटरनेट इस्तेमाल करने से पहले उसकी पूरी जानकारी ले लेनी चाहिए। इन्होने सुझाव दिया कि यदि प्राथमिक शिक्षा में बच्चों के पाठ्य क्रम में साइबर तकनीक  के सदुपयोग  व दूरूपयोग पर कानूनी  पावधान को जोड़ा जाए तो बहुत लाभकारी होगा।
     दिल्ली राज्य  विधिक सेवाएं प्राधिकरण  के प्रतिनिधि वक्ता मेट्रोपोलिटन मजिस्ट्रेट चन्दरजीत सिंह ने औरतों को साइबर क्राइम के खिलाफ मुहिम छेड़ने का आह्वान किया। उन्होंने  विधिक सेवा प्राधिकरण की भूमिका पर भी प्रकाश डाला।
    सुप्रसिद्ध साइबर लॉ एक्सपर्ट एवं अधिवक्ता सुप्रीम कोर्ट नीरज अरोड़ा ने साइबर क्राइम के घटित होने के विभिन्न तरीको पर प्रकाश डाला। साथ में उससे जुड़े कानूनों  के बारे में औचित्यपूर्ण जानकारी दी। इन्होने यह भी कहा यदि इंटरनेट के सही इस्तेमाल किया जाए तो यह बहुत ही सुविधाजनक है
  हरियाणा राज्य  विधिक सेवाएं प्राधिकरण  की प्रतिनिधि वक्ता चीफ जुडिशल मजिस्ट्रेट डॉ कविता काम्बोज ने  बताया कि सुरक्षित रहने के लिए औरत द्वारा क्या क्या कदम उठाये जा सकते हैं। इन्होने समाज की भूमिका पर भी रौशनी डाली और बताया कि किस प्रकार महिला पीड़ितो को सहयोग देकर उनकी डर को खत्म किया जा सकता है।
  वेबिनार के मख्य संयोजक एवं   भागीदारी जन सहयोग समिति के महासचिव विजय गौड़ ने साइबर अपराध की रोकथाम में सामाजिक जागरूकता की महवपूर्ण भूमिका बताते हुए कहा की रोकथाम का काम भले ही चुनौतीपूर्ण है पर असंभव नहीं   मात्र पहल करने की जरूरत है क्यूंकि माना कि अँधेरा घना है , किन्तु दीपक जलाना भी कहा मना है  
इस अवसर पर  पार्टनर यूनिवर्सिटीज के प्रोग्राम कोऑर्डिनेटर्स डॉ० प्रकाश चन्दर ,डॉ० बी०वी० रमण रेड्डी , डॉ० मेहताब अली , डॉ० प्रदीप कुमार , मदरलैंड वौइस् के सम्पादक संजय उपाध्याय , भागीदारी जन सहयोग समिति के उपाध्यक्ष भारत भूषण एवं कार्यकारी सदस्या डॉ० उर्मिल वत्स ने भी अपने विचार रखे साइबर क्राइम अभियान के प्रति अपनी कटिबद्धता दोहराई l उन्होंने बताया कि  यूट्यूब एवं फेसबुक माध्यम से 25 राज्यों के 9000 से अधिक कॉलेज के छात्र छात्राएं , वकील एवं अन्य लोग कार्यक्रम से जुड़े l डॉ० चन्दर मोहन वेबिनार के संयोजक एवं कोऑर्डिनेटर राष्ट्रीय सेवा योजना - के० आर० मंगलम यूनिवर्सिटी ने सभी का आभार व्यक्त किया
Copyright @ 2019.